Menu

Pariksha Pe Charcha 2020: पीएम मोदी ने छात्रों को दिया No Technology Challenge, जानिए क्या है यह

Tue, 21 Jan 2020 04:02 AM (IST) | अरविंद दुबे

HIGHLIGHT

  1. Pariksha Pe Charcha कार्यक्रम दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में आयोजित किया गया।
  2. अब तक 15 छात्रों ही सवाल पूछ सकते थे, लेकिन इस बार 60 छात्रों को मौका मिला।
  3. पहली बार शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों से बराबर की संख्या में बच्चों का चयन किया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 20 जनवरी सोमवार को "परीक्षा पे चर्चा" कार्यक्रम के दौरान देशभर के छात्रों और शिक्षकों से चर्चा की। इस दौरान छात्र पीएम मोदी से सवाल-जवाब भी किए। कार्यक्रम में विशेष तौर पर दिव्यांग छात्रों को प्रधानमंत्री से मन की बात कहने और सवाल पूछने का मौका दिया गया। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश निशंक पोखरियाल भी इस दौरान मौजूद रहे।

21 January 2020
  • 01:14 PM

    हमने डर के कारण आगे पैर नहीं रखे, इससे बुरी कोई अवस्था नहीं हो सकती। हमारी मनोस्थिति ऐसी होनी चाहिए कि हम किसी भी हालत में डगर आगे बढ़ाने का प्रयास करेंगे, ये मिजाज तो हर विद्यार्थी का होना चाहिए: पीएम मोदी

     

  • 12:57 PM

     अगर हम प्रकृति के साथ तालमेल बनाकर जीवन जिएंगे, तो प्रकृति स्वयं आपको आगे ले जाने में सहायता करेगी। इसीलिए समय और परिस्थिति की पसंद में हमे, प्रकृति के अनुकूल समय खोजना चाहिए: पीएम मोदी

  • 12:56 PM

     संभव है कि सुबह उठकर आप पढ़ते हैं तो मन और दिमाग से पूरी तरह तंदुरुस्त होते होंगे, लेकिन हर किसी की अपनी विशेषता होती है, इसलिए आप सुबह या शाम जिस समय comfortable हों, उसी समय में पढ़ाई करो: पीएम मोदी

  • 12:55 PM

     हमारा दिनभर के कामों, थकावट, में दिन बीतता है तो दिमाग कुछ engage रहता है। क्या उस वक्त आपका दिमाग खाली होगा क्या? दिन भर की घटनाओं का एक्शन-रिएक्शन भी चलता होगा: पीएम मोदी

  • 12:55 PM

     जितना ज्यादा आप बच्चे को प्रोत्साहित करोगे, उतना परिणाम ज्यादा मिलेगा और जितना दबाव डालोगे उतना ज्यादा समस्याओं को बल मिलेगा। अब ये मां-बाप और अध्यापकों को तय करना है कि उन्हें क्या चुनना है: पीएम मोदी

  • 12:52 PM

     अधिकार और कर्त्तव्य जब साथ साथ बोले जाते हैं, तभी सब गड़बड़ हो जाता हैं। जबकि हमारे कर्त्तव्य में ही सबके अधिकार समाहित हैं। जब मैं एक अध्यापक के रूप में अपना कर्त्तव्य निभाता हूं, तो उससे विद्यार्थियों के अधिकारों की रक्षा होती है: पीएम मोदी

  • 12:51 PM

    क्या हम तय कर सकते हैं कि 2022 में जब आजदी के 75 वर्ष होंगे तो मैं और मेरा परिवार जो भी खरीदेंगे वो Make In India ही खरीदेंगे। मुझे बताइये ये कर्त्तव्य होगा या नहीं, इससे देश का भला होगा और देश की economy को ताकत मिलेगी: पीएम मोदी

     

  • 12:51 PM

     मैं किसी परिजन पर कोई दवाब नहीं डालना चाहता, और न किसी बच्चे को बिगाड़ना चाहता हूं। जैसे स्टील के स्प्रिंग को ज्यादा खींचने पर वो तार बन जाता है, उसी तरह मां-बाप, अध्यापकों को भी सोचना चाहिए कि बच्चे कि क्षमता कितनी है: पीएम मोदी

  • 12:49 PM

     मां-बाप को मैं कहूंगा कि बच्चे बड़े हो गए हैं ये स्वीकार करें, लेकिन जब बच्चें 2-3 साल के थे और तब आपके अंदर उनको मदद करने की जो भावना थी उसे हमेशा जिंदा रखिए। बच्चों को उनकी रुचि के सही रास्ते में आगे बढ़ने के लिए हमेशा प्रेरित करना चाहिए: पीएम मोदी

  • 12:43 PM

    परीक्षा पे चर्चा के दौरान जब पीएम से बच्चों ने पूछा कि पढ़ने का सही समय क्या है, तो पीएम बोले, यह सवाल दर्शाता है कि यह कार्यक्रम सफल है। बच्चे जो सवाल अपने माता-पिता और बड़ी बहन से पूछ सकते थे, वो मुझसे पूछ रहे हैं। यह अपनापन पाकर मैं आभारी हूं।

     

  • 12:35 PM

    क्या हम तय कर सकते हैं कि 2022 में जब आजदी के 75 वर्ष होंगे तो मैं और मेरा परिवार जो भी खरीदेंगे वो Make In India ही खरीदेंगे। मुझे बताइये ये कर्त्तव्य होगा या नहीं, इससे देश का भला होगा और देश की economy को ताकत मिलेगी: पीएम मोदी

     

  • 12:30 PM

    इस देश में अरुणाचल ऐसा प्रदेश है जहां एक दूसरे से मिलने पर जय-हिंद बोला जाता है।ये हिंदुस्तान में बहुत कम जगह होता है। वहां के लोगों ने अपनी भाषा के प्रचार के साथ हिंदी और अंग्रेजी पर भी अच्छी पकड़ बनाई है। हम सभी को नॉर्थ ईस्ट जरूर जाना चाहिए: पीएम मोदी

     

  • 12:19 PM

    आज की पीढ़ी घर से ही गूगल से बात करके ये जान लेती है कि उसकी ट्रेन समय पर है या नहीं। नई पीढ़ी वो है जो किसी और से पूछने के बजाए, तकनीक की मदद से जानकारी जुटा लेती है। इसका मतलब कि उसे तकनीक का उपयोग क्या होना चाहिए, ये पता लग गया: पीएम मोदी

  • 12:16 PM

     स्मार्ट फोन जितना समय आपका समय चोरी करता है, उसमें से 10 प्रतिशत कम करके आप अपने मां, बाप, दादा, दादी के साथ बिताएं। तकनीक हमें खींचकर ले जाए, उससे हमें बचकर रहना चाहिए। हमारे अंदर ये भावना होनी चाहिए कि मैं तकनीक को अपनी मर्जी से उपयोग करूंगा: पीएम मोदी

  • 12:15 PM

     पिछली शताब्दी के आखरी कालखंड और इस शताब्दी के आरंभ कालखंड में विज्ञान और तकनीक ने जीवन को बदल दिया है। इसलिए तकनीक का भय कतई अपने जीवन में आने नहीं देना चाहिए। तकनीक को हम अपना दोस्त माने, बदलती तकनीक की हम पहले से जानकारी जुटाएं, ये जरूरी है: पीएम मोदी

  • 12:05 PM

     सिर्फ परीक्षा के अंक जिंदगी नहीं हैं। कोई एक परीक्षा पूरी जिंदगी नहीं है। ये एक महत्वपूर्ण पड़ाव है। लेकिन यही सब कुछ है, ऐसा नहीं मानना चाहिए।मैं माता-पिता से भी आग्रह करूंगा कि बच्चों से ऐसी बातें न करें कि परीक्षा ही सब कुछ है: पीएम मोदी

  • 11:53 AM

     जाने अनजाने में हम लोग उस दिशा में चल पड़े हैं जिसमें सफलता -विफलता का मुख्य बिंदु कुछ विशेष परीक्षाओं के मार्क्स बन गए हैं। उसके कारण मन भी उस बात पर रहता है कि बाकी सब बाद में करूंगा, एक बार मार्क्स ले आऊं: पीएम मोदी

  • 11:47 AM

    हम विफलताओं मैं भी सफलता की शिक्षा पा सकते हैं। हर प्रयास में हम उत्साह भर सकते हैं और किसी चीज में आप विफल हो गए तो उसका मतलब है कि अब आप सफलता की ओर चल पड़े हो: पीएम मोदी

  • 11:46 AM

    पीएम ने बताया, मूड ऑफ को मूड चार्ज में ऐसे बदलें

    पीएम ने दो उदाहरण देकर बताया कि बच्चों का मूड ऑफ कैसे होता है और इसके कैसे चार्ज किया जा सकता है। बकौल पीएम, जब आप पढ़ाई करते हो और मां को कहते हो कि मां मुझे 6 बचे चाय दे देना। जब मां समय पर चाय देने नहीं आती है तो हम गुस्सा हो जाते हैं। मूड ऑफ हो जाता है, लेकिन एक मिनट के लिए सोचिए कि मां आपका कितना ख्याल रखती है, वो भूल नही सकती कि आपको चाय देना है। हो सकता है उसको कुछ हो गया हो, कोई और जरूरी काम आ गया हो। ऐसा सोचेंगे तो मूड ऑफ होने के बजाए मूड चार्ज हो जाएगा।

  • 11:37 AM

    जैसे आपके माता-पिता के मन में 10वीं, 12वीं को लेकर टेंशन रहती है, तो मुझे लगा आपके माता-पिता का भी बोझ मुझे हल्का करना चाहिए। मैं भी आपके परिवार का सदस्य हूं, तो मैंने समझा कि मैं भी सामूहिक रूप से ये जिम्मेदारी निभाऊं: पीएम मोदी

  • 11:27 AM

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित कर रहे हैं। उन्होंने बच्चों को नई वर्ष औ नए दशक की शुभकामना दी और कहा कि उन्होंने कई कार्यक्रमों में हिस्सा लिया है, परीक्षा पे चर्चा उनका सबसे पसंदीदा प्रोग्राम है।

  • 11:08 AM

     परीक्षा पे चर्चा से पहले पीएम मोदी ने एक प्रदर्शनी भी देखी।

  • 10:50 AM

     परीक्षा पे चर्चा प्रोग्राम की एक झलक

  • 10:49 AM

     प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट की तस्वीरें, यहां होगा परीक्षा पे चर्चा प्रोग्राम

  • 10:32 AM

     परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया है कि वे इस कार्यक्रम की  उत्सुकता से प्रतिक्षा कर रहे हैं। देश के युवाओं के साथ जुड़ने हमेशा से आनंददायक रहा है।

  • 08:58 AM

    कार्यक्रम से पहले पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि परीक्षा पे चर्चा के लिए लाखों छात्रों, पालकों और शिक्षकों ने अपने सुझाव दिए हैं जो बहुत मूल्यवान हैं। इससे पता चलता है कि परीक्षा से पहले यानी तैयारी करते समय, परीक्षा के दौरान और परीक्षा के बाद छात्रों के मन में क्या चलता है।

  • 08:56 AM

    देशभर के 2000 से ज्यादा छात्र कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। 

  • 08:54 AM

     परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम सुबह 11 बजे दिल्ली के ताल कटोरा स्टेडियम में शुरू होगा। आयोजन का  उद्देश्य यह है कि सभी छात्र अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करें और तनावमुक्त रहकर परीक्षा दें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK