PF Account KYC: किसी भी खाते के लिए KYC यानी नो यॉर कस्टमर (अपने ग्राहक को जानिए) जरूरी है। भविष्य निधि यानी पीएफ खाते के साथ भी यही बात है। जिन कर्मचारियों का उनके PF खाते में KYC पूरा होता है, उनके लिए राशि ट्रांसफर करने से लेकर बैलेंस जानने और पासबुक देखने समेत तमाम प्रक्रियाएं बहुत आसान हो जाती हैं। दरअसल, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन यानी ईपीएफओ में यूनिफाइट पोर्टल के जरिए ये सेवाएं संचालित होती हैं। इसलिए PF खाताधारक के लिए जरूरी है कि केवायरस अपडेट कर लें साथ ही अपना यूएएन नंबर भी एक्टिव रखें। दरअसल, PF Account से जुड़े कुछ काम ऐसे हैं, जिनमें नियोक्ता यानी कंपनी की कोई भूमिका नहीं होती है। ये काम कर्मचारी खुद तभी कर सकता है जब उसका KYC अपडेट है।

अभी कोई भी कर्मचारी नियोक्ता के सत्यापन के बिना तीन प्रकार के दावे प्रस्तुत कर सकता है - फॉर्म -19, 10 सी और 31। हालांकि, PF खाताधारक को यह सुनिश्चित करना होगा कि उसका यूएएन एक्टिव है और कम से कम उसका बैंक खाता और आधार KYC, डिजिटल सिग्नेचर सर्टिफिकेट के जरिए नियोक्ता द्वारा अप्रूव है।

UAN EPFO portal पर ऐसे अपडेट करें KYC

यूएएन ईपीएफओ पोर्टल पर केवाईसी अपडेट करने के लिए कर्मचारी को यूएएन (यूनिवर्सल बैंक नंबर) की आवश्यकता होती है। सदस्य ईपीएफओ यूएएन पोर्टल पर लॉग इन कर सकते हैं और आवश्यक दस्तावेज ऑनलाइन अपलोड करके केवाईसी अपडेट कर सकते हैं। ईपीएफओ ने नाम, जन्म तिथि और लिंग में सुधार के लिए ऑनलाइन सुविधा दी है।

What Is KYC (Know Your Customer)

KYC (नो योर कस्टमर) कर्मचारियों के लिए EPFO ​​की सेवाओं को बेहतर बनाने का एक डेटा अपडेशन है। केवाईसी डिटेल्स में पैन, आधार और बैंक खाता विवरण शामिल हैं। यदि किसी ने अभी तक ईपीएफओ सदस्य पोर्टल पर इन विवरणों को अपडेट नहीं किया है, तो कर्मचारी ईपीएफओ के यूएएन पोर्टल में केवाईसी विवरणों को ऑनलाइन अपडेट कर सकते हैं।

कंपनी द्वारा UAN एक्टिव किए जाने के बाद कर्मचारी पोर्टल के माध्यम से आधार, पैन, बैंक खाते के विवरण को अपडेट कर सकते हैं। नियोक्ता के सत्यापन के बिना कोई भी दावा ऑनलाइन मोड के माध्यम से प्रस्तुत किया जा सकता है। एक कर्मचारी यूएएन पोर्टल पर लॉगिन करके मासिक योगदान विवरण भी देख सकता है।

How to Link Aadhaar with UAN

UAN से Aadhaar को लिंक करने के लिए eKYC पोर्टल पर जाना होगा। यहां सबमिट किए जा चुके eKYC की स्थिति भी पता लगाई जा सकती है। PAN और UAN लिंक होने पर आधार के साथ लिंक EPFO की ऑनलाइन सेवाएं ‘UMANG’ Mobile App के जरिए भी हासिल की जा सकती हैं। PAN की यह लिंकिंग इनकम टैक्स के लिहाज से भी जरूरी है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस