PM Modi Dehradun Visit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को देहरादूर के दौरे पर हैं। उत्तराखंड में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव (Uttarakhand Assembly Elections 2022) से पूर्व पीएम मोदी देहरादून में 18 हजार करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। इसके बाद परेड मैदान में जनसभा को भी संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा, उत्तराखंड पूरी देश की आस्था ही नहीं, बल्कि कर्म और कठोरता की भी भूमि है। इसलिए इस क्षेत्र का विकास, इस क्षेत्र को भव्य स्वरूप देना, डबल इंजन की सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। बीते वर्षों की कड़ी मेहनत के बाद, अनेक जरूरी प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद आखिरकार आज ये दिन आया है। मैंने केदारपुरी की पवित्र धरती से कहा था और आज देहरादून से दोहरा रहा हूं, ये परियोजनाएं इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने में अहम भूमिका निभाएंगी।

पीएम मोदी के संबोधन की बड़ी बातें

इस शताब्दी की शुरुआत में, अटल जी ने भारत में कनेक्टिविटी बढ़ाने का अभियान शुरू किया था, लेकिन उनके बाद 10 साल देश में ऐसी सरकार रही, जिसने देश का, उत्तराखंड का, बहुमूल्य समय व्यर्थ कर दिया।

10 साल तक देश में इंफ्रास्ट्रक्चर के नाम पर घोटाले हुए, घपले हुए।

इससे देश का जो नुकसान हुआ उसकी भरपाई के लिए हमने दोगुनी गति से मेहनत की और आज भी कर रहे हैं।

आज भारत, आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर पर 100 लाख करोड़ रुपए से अधिक के निवेश के इरादे से आगे बढ़ रहा है।

आज भारत की नीति, गतिशक्ति की है, दोगुनी-तीन गुनी तेजी से काम करने की है।

21वीं सदी के कालखंड में भारत में कनेक्टविटी का ऐसा महायज्ञ चल रहा है, जो भविष्य के भारत को विकसित देशों के श्रंखला में लाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाएगा। इस महायज्ञ का एक यज्ञ आज देवभूमि में हो रहा है।

केदारनाथ त्रासदी से पहले, 2012 में 5 लाख 70 हजार लोगों ने दर्शन किये थे। ये उस समय एक रिकॉर्ड था।

जबकि कोरोना काल शुरू होने से पहले, 2019 में 10 लाख से ज्यादा लोग केदारनाथ जी के दर्शन करने पहुंचे थे।आज मुझे बहुत खुशी है कि दिल्ली-देहरादून इकॉनॉमिक कॉरिडोर का शिलान्यास हो चुका है।

जब ये बनकर तैयार हो जाएगा तो, दिल्ली से देहरादून आने-जाने में जो समय लगता है, वो करीब-करीब आधा हो जाएगा।

भाजपा ने किया मिशन उत्तराखंड की शुभारंभ

इस तरह भाजपा मिशन 2022 की जबरदस्त शुरुआत करने जा रही है। जानकारी के मुताबिक, पीएम मोदी जिन 11 प्रोजेक्ट्स की नींव रखी है, उनमें दिल्ली-देहरादून इकोनॉमिक कॉरिडोर (ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे जंक्शन से देहरादून तक) शामिल है। साथ ही पीएम मोदी सड़कों को सुरक्षित बनाकर शहर को बच्चों के अनुकूल बनाने के लिए देहरादून में 'चाइल्ड फ्रेंडली सिटी प्रोजेक्ट' की आधारशिला भी रखी।

जानिए Delhi-Dehradun Expressway के बारे में

Delhi-Dehradun Expressway लगभग 8,300 करोड़ रुपए की लागत से बनाया जाएगा। यह दिल्ली से देहरादून की दूरी को कम कर देगा और यात्रा के समय को छह घंटे से घटाकर लगभग 2.5 घंटे कर देगा। इसमें हरिद्वार, मुजफ्फरनगर, शामली, यमुनानगर, बागपत, मेरठ और बड़ौत को जोड़ने के लिए 7 प्रमुख इंटरचेंज होंगे। इस कॉरिडोर की कुल लंबाई 210 किली होगी। इस पर वाहन 100 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से चल सकेंगे। एक्सप्रेसवे को भारतमाला परियोजना के तहत 2020 में हरी झंडी दी गई थी और इसे पूरा करने की समय सीमा 2024 निर्धारित की गई है।

Delhi-Dehradun Expressway देखिए तस्वीरें

Delhi-Dehradun Expressway

Delhi-Dehradun Expressway

Delhi-Dehradun Expressway

Delhi-Dehradun Expressway

Delhi-Dehradun Expressway

Delhi-Dehradun Expressway

Delhi-Dehradun Expressway

Delhi-Dehradun Expressway

Posted By: Arvind Dubey