PM narendra Modi Mann Ki Baat । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सर्वदलीय बैठक में शामिल होने से पहले मन की बात कार्यक्रम के तहत राष्ट्र को संबोधित किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अमृत महोत्सव हमें सीखने के अलावा देश के लिए कुछ करने की प्रेरणा देता है और अब चाहे आम जनता हो या देश भर की सरकारें, पंचायत से लेकर संसद तक अमृत महोत्सव की गूंज सुनाई दे रही है और इस पर्व से जुड़े कार्यक्रम लगातार चल रहे हैं।

वृंदावन दुनिया के लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वृंदावन दुनियाभर से लोगों को आकर्षित करता रहा है। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में ऑस्ट्रेलिया के पर्थ में 'सेक्रेड इंडिया गैलरी' का उल्लेख किया कि इस गैलरी को हंस घाटी के खूबसूरत इलाके में बनाया गया है। पीएम मोदी ने कहा कि यह ऑस्ट्रेलिया की रहने वाली जगत तारिणी दासी जी के प्रयासों का नतीजा है। उन्होंने बताया कि ऑस्ट्रेलिया में रहने वाली जगतारिणी 13 साल से अधिक समय तक वृंदावन में रहीं। वृंदावन से उनका जुड़ाव ऐसा था कि उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में ही वृंदावन का निर्माण किया।

लगातार बढ़ रहा मन की बात का परिवार

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि मुझे वाकई अच्छा लगता है कि 'मन की बात' का हमारा यह परिवार न सिर्फ बड़ा हो रहा है बल्कि दिमाग से भी जुड़ रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि कार्यक्रम भी उद्देश्य से जुड़ रहा है और हमारे गहरे होते संबंध हमारे भीतर सकारात्मकता का एक सतत प्रवाह पैदा कर रहे हैं। पीएम ने कहा कि हमेशा की तरह इस बार भी मुझे आप सभी से NaMo ऐप MyGov पर कई सुझाव मिले हैं।

पीएम मोदी बोले, मैं सत्ता में नहीं हूं, जनता का सेवक हूं

आयुष्मान भारत योजना का लाभ लेने वाले एक हितग्राही से चर्चा के दौरान जब प्रधानमंत्री मोदी को शुभकामना देते हुए कहा कि आप लंबे समय तक सत्ता में रहे तो प्रधानमंत्री मोदी ने जवाब दिया कि मैं आज भी सत्ता में नहीं हूं। मैं जनता का सेवक हूं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की पद जनता की सेवा के लिए होता है।

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ (Mann Ki Baat) के 83वें संस्करण को संबोधित किया। पीएम मोदी के इस कार्यक्रम का प्रसारण आकाशवाणी और दूरदर्शन के पूरे नेटवर्क और आकाशवाणी समाचार और मोबाइल ऐप पर भी किया गया।

हर माह के आखिरी रविवार को प्रसारित होता है ‘मन की बात’

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का “मन की बात” रेडियो संबोधन हर महीने के आखिरी रविवार को प्रसारित होता है। ऐसी संभावना है कि इस बार प्रधानमंत्री मोदी इस बार नए कोरोना वेरिएंट ‘ओमाइक्रोन’ को लेकर राष्ट्र को संबोधित कर सकते हैं। इसके अलावा संसद के शीतकालीन सत्र और किसान आंदोलन को लेकर भी बात कर सकते हैं।

3 अक्टूबर 2014 को प्रसारित हुआ था सबसे पहला एपिसोड

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात कार्यक्रम का पहला एपिसोड 3 अक्टूबर 2014 को प्रसारित किया गया था। वहीं बीते महीने 24 अक्टूबर को प्रसारित ‘मन की बात’ कार्यक्रम के अपने आखिरी एपिसोड में पीएम मोदी ने स्वच्छ भारत अभियान के कार्यान्वयन पर जोर दिया था। तब प्रधानमंत्री मोदी ने पीएम बताया था कि भारत दुनिया के पहले देशों में से एक है, जो ड्रोन की मदद से अपने गांवों में जमीन का डिजिटल रिकॉर्ड तैयार कर रहा है।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close