गणतंत्र दिवस की परेड के बाद किसान आंदोलन के नाम पर प्रदर्शनकारियों ने हिंसा का नंगा नाच किया। इस घटिया हरकत से लाल किले में बच्‍चों सहित करीब 300 कलाकर फंसे हुए थे। बाद में पुलिस ने उन्‍हें वहां से रेस्‍क्‍यू किया। ये कलाकार लाल किले के पास दोपहर 12 बजे से फंसे हुए थे। इन्‍हें अब दिल्ली पुलिस ने बचा लिया हैदिल्‍ली पुलिस के उत्‍तर क्षेत्र के डीसीपी एंटो एल्‍फोंस ने बताया कि लाल किले में बच्चों सहित लगभग 300 कलाकार थे। जैसे ही हालात सुधरे, हमने उन्हें भोजन प्रदान किया और उन्हें सुरक्षित स्थान दरियागंज मेस में भेज दिया। दिल्ली पुलिस ने यह भी जानकारी दी है कि मोहन गार्डन पुलिस स्टेशन के SHO सहित 30 पुलिस कर्मियों ने आज की ट्रैक्टर रैली के दौरान द्वारका जिले में हुई हिंसा में गंभीर रूप से घायल हुए। इस संबंध में तीन एफआईआर दर्ज की जा रही हैं। किसान ट्रैक्टर परेड के दौरान मंगलवार को उपद्रवियों ने जमकर उत्पात मचाया। कई जगहों पर पुलिसकर्मियों से मारपीट की गई तो कई इलाकों में पुलिस पर ट्रैक्टर चलाने की कोशिश की गई। उपद्रवियों के हमले में 83 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं, उनमें 26 की हालत गंभीर है। जिन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। दिल्ली के ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आलोक कुमार ने कहा कि ट्रैक्टर रैली में पुलिस कर्मियों के साथ मारपीट करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags