नई दिल्ली। अधिकारियों ने कहा कि पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के घर की दीवार पर चढ़कर पिछले साल उनकी गिरफ्तारी करने वाले पुलिस अधिकारी को राष्ट्रपति पुलिस मेडल से सम्मानित किया गया। डीएसपी रामास्वामी पार्थसारथी उन 28 सीबीआई अधिकारियों में से एक हैं, जिन्हें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। अधिकारियों ने कहा कि पार्थसारथी अपने शांत व्यवहार, लेकिन सख्त रवैये के लिए जाने जाते हैं।

उन्होंने ही इस मामले में कार्ति चिदंबरम को भी गिरफ्तार किया है। इस सूची में शामिल एक अन्य शीर्ष पुलिसकर्मी धीरेंद्र शुक्ला थे, जिन्होंने संयुक्त अरब अमीरात से पहले भारतीय नागरिक डिपोर्ट (निकालने वाली) करने टीम का नेतृत्व किया। धीरेंद्र शुक्ला ने मुंबई के पत्रकार जे डे की हत्या की सफलतापूर्वक जांच की थी। उन्होंने एजेंसी की खेल इकाई का भी पांच साल तक नेतृत्व किया और मोनाको में एक पुलिस दल का हिस्सा बनने में वह संयुक्त राष्ट्र की पसंद थे।

उन्होंने संयुक्त अरब अमीरात से पहली बार किसी को भारत में लाने वाली टीम का नेतृत्व किया और रोशन अंसारी को भारत लाने में कामयाबी हासिल की। धीरेंद्र शुक्ला ने डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम के अनुयायियों की कथित तौर पर गिरफ्तारी और पत्रकार राजीव रंजन की हत्या के मामले सहित कई मामलों की जांच की थी। विशेष अपराध इकाई के पुलिस अधीक्षक बिनय कुमार को मेधावी सेवा के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है। वह जटिल हत्या की गुत्थी सुलझाने में माहिर हैं।

उन्होंने साल 2006 में हुई कुख्यात खेरलानजी की हत्याओं की जांच का नेतृत्व किया था। अनुसूचित जाति समुदाय के चार सदस्यों की महाराष्ट्र के खेरलानजी गांव में ऊंची जाति के लोगों ने जमीन के विवाद में बेरहमी से हत्या कर दी थी। कुमार ने साल 2006 के पवनराजे निंबालकर हत्या मामले, मेघालय के राइनहस्केम खारसोहनोह हत्या मामले, मेरठ की कविता रानी हत्याकांड की भी जांच की थी।

विशेष अपराध इकाई के एक अन्य पुलिस अधीक्षक, निर्भय कुमार को भी राष्ट्रपति पदक दिया गया है। उन्होंने कुख्यात निठारी कांड, गाजियाबाद में पीएफ घोटाला, पूर्व रेल मंत्री लालू यादव के साथ आईआरसीटीसी मामला, मध्यान्ह भोजन घोटाला और दिल्ली पुलिस के सहायक आयुक्त राजबीर सिंह की हत्या के मामले की जांच की थी। प्रतिष्ठित सेवा के लिए प्रतिष्ठित राष्ट्रपति पुलिस पदक प्राप्त करने वालों में कोचीन में एएसपी थोंदत्तुपरम्बिल वर्गीज और कोलकाता में दिप्तेंदु भट्टाचार्य, सीबीआई अकादमी गाजियाबाद में उप-निरीक्षक राजेश सिंह और नई दिल्ली में हेड कांस्टेबल ओम प्रकाश बिश्नोई और संजय कुमार भट भी शामिल हैं।

जिन अधिकारियों को मेधावी सेवा के लिए पुलिस पदक से सम्मानित किया गया है, वे हैं- पुलिस अधीक्षक मनोज वर्मा, पुलिस उपाधीक्षक - थांगलुआन जमांग, रबी नारायण त्रिपाठी, मुकेश वर्मा, नितेश कुमार, बरुण कुमार सरकार, नारायण चंद्र साहू। इसके अलावा सहायक उप-निरीक्षक नंद किशोर, नूर अली शेख और रोहिताश कुमार धिनवा को भी यह सम्मान मिला है। पदक प्राप्त करने वालों में हेड कांस्टेबलों मदन लाल धीमान, धरमवीर सिंह, पार्थसारथी शेषाद्रि, कांस्टेबल कैलाश चंद यादव, पवन कुमार, कृष्ण कुमार, और कार्यालय अधीक्षक पुष्पा जोशी शामिल हैं।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

fantasy cricket
fantasy cricket