देश में करीब सवा महीने से सड़कें सूनी हैं और सार्वजनिक परिवहन बंद है। 24 मार्च की रात को देश में लागू हुए संपूर्ण लॉकडाउन के बाद से सार्वजनिक परिवहन की सेवाएं ठप हैं। लेकिन अब जल्‍द ही यह शुरू हो सकता है। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने आज इस आशय के संकेत दिए हैं। वे ट्रांसपोर्टस से वीडियो कांफ्रेंसिंग संवाद कर रहे थे। इस दौरान उन्‍होंने यह आश्‍वासन दिया है। गडकरी ने कहा है कि परिवहन और राजमार्गों को खोलने से जनता में विश्वास पैदा करने में काफी मदद मिलेगी। सार्वजनिक परिवहनकुछ दिशा-निर्देशों के साथ खुल सकता है।उन्होंने बसों और कारों के संचालन के दौरान सामाजिक दूरी बनाए रखने और हैंड वाश, सैनिटाइजिंग, फेस मास्क आदि जैसे सभी सुरक्षा उपायों को अपनाने के प्रति आगाह किया। मंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बस एंड कार ऑपरेटर्स कंफेडरेशन ऑफ इंडिया के सदस्यों को संबोधित कर रहे थे।

हालांकि इसे लेकर उन्‍होंने किसी भी संभावित तारीख का उल्‍लेख नहीं किया। गौरतलब है कि देश में चल रहे तीसरे लॉकडाउन का मौजूदा चरण 17 मई को समाप्त हो रहा है। केंद्र सरकार ने पहले ही कुछ प्रतिबंधों से राहत दे दी है, खासकर ग्रीन जोन में जहां कोरोनोवायरस के कोई नए केस सामने नहीं आए हैं। कुछ राज्य सरकारों ने कुछ औद्योगिक क्षेत्रों को संचालित करने और स्टैंडअलोन यानी एकल दुकानें खोलने की अनुमति दी है।

दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने स्टैंडअलोन की दुकानों, 33 प्रतिशत स्‍टाफ वाले निजी कार्यालयों, घरेलू सहायकों और स्वरोजगार वाले लोगों को गैर-हॉटस्पॉट क्षेत्रों में काम करने की अनुमति दी है। हालांकि इन क्षेत्रों में सार्वजनिक परिवहन के अभाव में निजी वाहनों की आंशिक आवाजाही की अनुमति दी गई है, लेकिन यह क्रम अधिक नहीं चल पाया है।

गडकरी ने कहा कि वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के नियमित संपर्क में हैं, जो COVID-19 महामारी के इन कठिन दिनों के दौरान अर्थव्यवस्था के उत्थान के लिए काम कर रहे हैं।

Posted By: Navodit Saktawat

Assembly elections 2021
elections 2022
  • Font Size
  • Close