Punjab Crisis : पंजाब कांग्रेस का विवाद खत्म होता दिख रहा है। कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष पद से इस्तीफे के बाद नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) गुरुवार को नयी दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय पहुंचे। यहां उन्होंने कांग्रेस आलाकमान के साथ बड़ी बैठक की, जिसमें पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपा शामिल थे। करीब दो घंटों की बातचीत के बाद बहर निकले सिद्धू ने कहा कि उन्होंने पंजाब और पंजाब कांग्रेस से जुड़ी अपनी चिंताओं से पार्टी को अवगत कराया। अब पार्टी पंजाब के हित में जो भी फैसला करेगी और मुझे जो आदेश देगी, उसका पालन करुंगा।

दिल्ली में हुई इस बैठक के बाद कांग्रेस महासचिव और पंजाब प्रभारी हरीश रावत ने कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू ने साफ कहा है कि पार्टी अध्यक्ष जो भी फैसला लेंगी, उसका पालन करेंगे। उनके लिए निर्देश तय हैं, उन्हें पंजाब में कांग्रेस अध्यक्ष के रुप में काम करना है और संगठन को मजबूत करना है। इस बारे में कल घोषणा की जाएगी।इससे पहले हरीश रावत ने कहा था कि कुछ चीजों के हल होने में थोड़ा समय लगता है। बातचीत से सभी विवादों का हल निकल जाएगा।

आपको बता दें कि सिद्धू ने 28 सितंबर को कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके अलावा नवनियुक्त मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के फैसलों पर भी सवाल उठाये थे। माना जा रहा है कि आलाकमान ने सिद्धू को उनकी जगह बता दी है और अब वो शांति के काम करेंगे।

Posted By: Shailendra Kumar