राजस्थान में भरतपुर जिले के सामरी गांव में जहरीली शराब पीने से चार और लोगों की मौत हो गई है। इसके साथ ही मरने वालों की संख्या बढ़कर आठ हो गई है। वहीं, पांच लोगों की आंखों की रोशनी चली गई है। दो लोगों की हालत गंभीर बनी हुई है। बुधवार को जहरीली शराब पीने से चार लोगों की मौत हो गई थी। गुरुवार को चार और लोगों की मौत हो गई । जिन लोगों की आंखों की रोशनी गई है, उन्हें जयपुर के सवाई मानसिह (एसएमएस) अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपित को गुरुवार दोपहर में गिरफ्तार किया। पुलिस ने गांव के आसपास 10 किलोमीटर क्षेत्र में शराब के सभी गोदाम सील कर दिए हैं। शराब की 16 दुकानों के सैंपल जांच के लिए जयपुर लैब में भेजे गए हैं। पुलिस ने चार स्थानों से 45 लीटर हथकड़ शराब जब्त करने के साथ ही शराब बनाने की भट्टियां भी नष्ट की हैं। जिला आरबीएम अस्पताल के अधीक्षक डा.नवदीप सैनी ने बताया कि हथकड़ देशी शराब बनाने में मेथेनॉल अल्कोहल का इस्तेमाल किया जाता है। इसकी ज्यादा मात्रा से शराब जहरीली हो जाती है। यह सीधे आंख को नुकसान पहुंचाती है । इससे हार्ट व लिवर को भी नुकसान होता है।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने घटना की जांच भरतपुर के संभागीय आयुक्त द्वारा कराने, मरने वालों के स्वजनों को दो-दो लाख रुपये एवं अन्य पीड़ितों को 50-50 हजार रुपये की सहायता देने की घोषणा की है। सीएम के निर्देश पर आबकारी एवं पुलिस के 10 कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है ।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Makar Sankranti
Makar Sankranti