Republic Day 2021: जब तक हम सर्दियों में बिस्तर छोड़ने का फैसला करते हैं। तब तक राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) कमांडो गणतंत्र दिवस परेड की अभ्यास शुरू कर देते हैं और प्रशिक्षण के अगले सत्र के लिए तैयार हो जाते हैं। एनएसजी कमांडो परेड के लिए कम से कम 5 घंटे पसीना बहाते है। लेकिन इस साल कोविड-19 प्रोटोकॉल को देखते हुए गणतंत्र दिवस को लेकर एक बड़ा फैसला लिया गया है। एनएसजी कमांडो एक दूसरे से 1.5 मीटर से अधिक की दूरी से मार्च करेंगे।

पहले वे राजपथ से कंधे से कंधा मिलाकर मार्च करते थे। कमांडो की वास्तविक ताकत का लगभग 40 प्रतिशत पिछले साल की तुलना में रिपब्लिक डे की परेड में भाग लेगा। वरिष्ठ भारतीय सेना और अर्धसैनिक अधिकारियों के साथ कमांडो का एक दल हर दिन सुबह 5 बजे राजपथ पर पहुंचता है और सुबह 10 बजे तक अभ्यास करता है।

एनएसजी के एक वरिष्ट अधिकारी ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि हम सुबह 5 बजे यहां पहुंचते है और अपना अभ्यास शुरू करते हैं। यह हमारे लिए एक दैनिक दिनचर्या है। इसमें बहुत अंतर नहीं है। राजपथ पर पहुंचने पर हम बार-बार प्रैक्टिस करते जब तक इसमें कोई गलती होती है। उन्होंने आगे कहा कि इस साल गणतंत्र दिवस पर हमारे पास पिछले साल की तुलना में अधिक वाहन होंगे। लोगों विशेष रूप से डिजाइन किए वाहनों को एक अलग ऊर्जा के साथ देखेंगे। जिन्हें आतंकवाद विरोधी अभियानों के लिए इस्तेमाल किया जाना है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Republic Day
Republic Day