नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट द्वारा फैसला सुनाने के बाद अब देशभर से प्रतिक्रियाएं सामने आ रही है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत ने भी कोर्ट के इस निर्णय का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि न्याय देने वाले इस निर्णय का स्वागत है। भागवत ने कहा कि मंदिर निर्माण में सभी सहयोग करें। सभी इस काम के लिए मिलजुलकर आगे आएं। कोर्ट के बाहर समझौते के सवाल पर संघ प्रमुख ने कहा कि पूर्व में इस तरह के प्रयास हुए लेकिन जब कोई निर्णय नहीं निकल सका इसीलिए सभी कोर्ट आए थे। हालांकि कोर्ट के फैसले को लेकर भागवत ने कहा कि 'देर आए लेकिन दुरुस्त आए'

मस्जिद को अयोध्या में ही बनाए जाने के सवाल पर संघ प्रमुख ने कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले का अभी और अध्ययन करेंगे। साथ ही उन्होंने जोड़ा कि मस्जिद की जमीन सरकार तय करेगी संघ प्रमुख मोहन भागवत ने मस्जिद की जमीन को लेकर विवाद के सवाल पर भी कहा कि इसका हल सरकार करे।

सुप्रीम कोर्ट ने रामलला के पक्ष में सुनाया फैसला

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने शनिवार को अयोध्या जमीन विवाद से जुड़ा ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। इस फैसले में जहां विवादित जमीन को रामलला की बताया गया है। वहीं मुस्लिमों को 5 एकड़ की वैकल्पिक जमीन देने का कहा गया है।

Posted By: Neeraj Vyas