School Reopening News: केंद्र सरकार से अनुमति मिलने के बाद 21 सितंबर से कुछ राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों में स्कूलों की शुरुआत हो गई। अभी 9 से 12वीं की कक्षाएं शुरू की जा रही हैं। हालांकि छात्रों का आना स्वैच्छिक है। स्कूलों को गाइडलाइन जारी की जा चुकी है। छह फीट की दूरी के नियम का पालन करना होगा। साथ ही सभी छात्रों और शिक्षकों के लिए मास्क लगाना भी अनिवार्य है। जिन राज्यों ने 21 सितंबर, सोमवार से आंशिक रूप से स्कूल तथा उच्च शिक्षण संस्थान खोलने की अनुमति दी है, उनमें शामिल हैं आंध्रप्रदेश, असम, दिल्ली, हरियाणा, जम्मूकश्मीर, कर्नाटक, पंजाब। मध्यप्रदेश में भी स्कूल खोलने की इजाजत दे दी गई है, लेकिन नियमित कक्षाएं लगाना अनिवार्य नहीं किया गया है। विद्यार्थी किसी विषय पर शिक्षक से मार्गदर्शन लेने के लिए पालकों की अनुमति से लेकर और ऐहतियात बरतते हुए स्कूल आ सकते हैं।

इस बीच, बिहार, उत्तर प्रदेश, केरल, और उत्तराखंड ने भी आज से आंशिक रूप से स्कूलों को फिर से शुरू करने का फैसला किया है। हालांकि, पश्चिम बंगाल, गोवा, कर्नाटक, झारखंड, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, ओडिशा, राजस्थान, सिक्किम और अन्य राज्यों में अभी भी कक्षाओं की बहाली पर अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है।

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा कि स्कूलों को फिर से खोलने और खासतौर पर दसवीं और बारहवीं कक्षा के लिए निर्णय विशेषज्ञों के परामर्श से लिया जाएगा और महामारी की स्थिति पर विचार किया जाएगा।

केंद्र सरकार ने स्पष्ट किया कि शैक्षणिक संस्थानों के लिए सोमवार से स्कूलों को फिर से शुरू करना अनिवार्य नहीं है। सरकार ने राज्यों को कोरोनो वायरस महामारी के बीच फिर से शुरू करने वाली कक्षाओं पर अंतिम फैसला लेने के लिए कहा था। केंद्र ने कक्षा 9 से 12 के छात्रों के लिए स्कूलों के आंशिक रूप से फिर से खोलने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की है। इस तरह करीब छह महीने बाद आज से स्कूलों में चहल पहल नजर आएगी।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020