आगामी 4 दिसंबर को पूर्ण सूर्य ग्रहण लगने वाला है। यह 2021 का अंतिम सूर्य ग्रहण है। यह अंटार्कटिका से दिखाई देगा। इसके अलावा केवल कुछ ही स्थानों पर लोग इस घटना को देख पाएंगे जैसे - सेंट हेलेना, नामीबिया, लेसोथो, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण जॉर्जिया और सैंडविच द्वीप समूह, क्रोज़ेट द्वीप समूह, फ़ॉकलैंड द्वीप समूह, चिली, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया। भारतीय समय के अनुसार यह ग्रहण दोपहर 12:20 बजे शुरू होगा और दोपहर 01:30 बजे अपने चरम पर होगा और अंत में दोपहर 01:36 बजे समाप्त होगा। पूर्ण सूर्य ग्रहण सुबह 7 बजे यूटीसी से शुरू होगा, अधिकतम ग्रहण सुबह 7:33 बजे होगा और यह सुबह 08:06 बजे समाप्त होगा। नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) द्वारा एक इंटरेक्टिव मानचित्र भी प्रकाशित किया गया था जो पृथ्वी की सतह पर सूर्य ग्रहण का मार्ग दिखाता है। हालांकि, यह सूर्य ग्रहण भारत से नहीं दिखाई देगा। सूर्य ग्रहण तब होता है जब चंद्रमा सूर्य के सामने से गुजरता है, इसे आंशिक रूप से या पूरी तरह से अवरुद्ध कर देता है। ग्रहण के परिणामस्वरूप पृथ्वी के कुछ हिस्से चंद्रमा की छाया में ढके रहते हैं।

2021 का आखिरी सूर्य ग्रहण: लाइवस्ट्रीम कैसे देखें

नासा ने लोगों को इस खगोलीय घटना का आनंद लेने के लिए यूनियन ग्लेशियर, अंटार्कटिका से घटना का सीधा प्रसारण करने की व्यवस्था की है। इस घटना को YouTube और NASA लाइव पर स्ट्रीम किया जाएगा। अंतरिक्ष एजेंसी ने टाइमिंग के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि लाइव स्ट्रीम दोपहर 12 बजे IST से शुरू होगी। ग्रहण आधे घंटे बाद शुरू होगा, और संपूर्णता का चरण दोपहर 1:14 बजे IST से शुरू होगा। साथ ही नासा ने लोगों को ग्रहण के दौरान सीधे सूर्य की ओर न देखने की चेतावनी दी है। इसके बजाय, घटना के दौरान विशेष सूर्य दर्शन या ग्रहण चश्मा पहनें।

डिसक्लेमर

'इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।'

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close