Sukanya Samriddhi Yojana : माता-पिता अपनी बेटी के नाम पर सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश करते है। इस पर 7.6 फीसदी का वार्षिक ब्याज और 1.5 लाख रुपए निवेश में टैक्स पर आकर्षक छूट मिलती है। हालांकि वित्तीय योजनाकारों का कहना है सुकन्या योजना में निवेश करना पर्याप्त नहीं है। लंबे समय के लिए इक्विटी एक बेतहतर निवेश ऑप्शन है। विशेषज्ञों के अनुसार सुकन्या योजना की शर्तों को ध्यान में रखना जरूरी है। इसकी सही जानकारी नहीं होने पर परेशानी हो सकती है। इस योजना में खाताधारक की शादी अकाउंट खुलने के 21 साल पूरे होने से पहले हो गई, तो आगे खाते में पैसा जमा नहीं होता है। अगर 21 साल पूरे होने से पहले खाता बंद कराना है तो एफिडेविट देना पड़ेगा। वहीं अगर सुकन्या समृद्धि योजना खाते में कम से कम रकम जमा नहीं होने पर 50 रुपए सालाना की पेनाल्टी लगती है। विशेषज्ञों के मुताबिक सुकन्या समृद्धि योजना में इनवेस्ट करने पर पैसा लंबे समय तक ब्लॉक रहता है। इस योजना में लड़की की उम्र 21 साल होने पर ही निवेश मैच्योर होता है। 18 साल आयु होने पर 50 फीसदी रकम शिक्षा के लिए निकाला जा सकता है। वहीं इक्विटी में यह निवेशक जरूरत के समय कभी भी पैसा निकाल सकता है। फिन्विन फाइनेंशियल प्लानर्स के मैनेजिंग पार्टनर मेल्विन जोसेफ के अनुसार निवेशक बहुत जोखिम नहीं लेना चाहते, उन्हें सुकन्या समृद्धि के साथ इक्विटी में भी निवेश करना चाहिए। उन्होंने बताया कि शुरुआत में सुकन्या में कम और इक्विटी में अधिक निवेश करना चाहिए। जब वह अपने लक्ष्य के करीब आए तो इक्विटी में निवेश घटाकर सुकन्या योजना में बढ़ा देना चाहिए। योजना के फॉर्म का PDF यहां Click करके डाउनलोड करें।

सुकन्या समृद्धि योजना सुकन्या समृद्धि योजना में लगेंगे ये दस्तावेज, जानिये हर साल के ब्याज दर

सुकन्या समृद्धि योजना फॉर्म: केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी और लाभकारी योजना, सुकन्या समृद्धि योजना (सुकन्या समृद्धि योजना) देश की बेटियों के भविष्य के लिए आर्थिक सुरक्षा के उद्देश्य से शुरू की गई थी। खास बात यह है कि यह योजना बहुत कम समय में बहुत लोकप्रिय भी हो गई है। आप अपने किसी भी निक्कतम पोस्ट ऑफिस या पोस्ट ऑफिस में बेटियों के नाम पर आवेदन करके इस योजना का खाता खोल सकते हैं। यही नहीं, आप हर साल इसमें 250 रुपये भी जमा कर सकते हैं। आज हम आपको इस योजना (सुकन्या समृद्धि योजना पंजीकरण फॉर्म) के फॉर्म को भरने का उचित और सही तरीका बताने जा रहे हैं। यह भी जान लें कि इस योजना के लिए कौन से बुनियादी और महत्वपूर्ण दस्तावेज आवश्यक हैं (सुकन्या समृद्धि योजना दस्तावेज)। योजना के फॉर्म का PDF यहां Click करके डाउनलोड करें।

इस योजना के बारे में मुख्य बातें

सुकन्या समृद्धि योजना या एसएसवाई मुख्य रूप से एक छोटी बचत योजना यानी छोटी बचत योजना है जो डाकघर से संचालित होती है। यह योजना गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों के लिए बहुत मायने रखती है। इसमें सरकार द्वारा ब्याज का भुगतान अच्छी दरों पर किया जाता है। केंद्र सरकार की इस योजना में, यदि आवेदक अपनी बेटी के लिए हर साल अधिकतम राशि जमा करता है, तो 21 साल बाद उसकी बेटी को 64 लाख रुपये मिलेंगे। यह ध्यान देने योग्य है कि सुकन्या समृद्धि योजना में केवल 10 वर्ष या उससे कम आयु की लड़कियों के खाते खोले जा सकते हैं। इसे न्यूनतम 250 रुपये से लेकर अधिकतम 1 लाख रुपये सालाना तक जमा किया जा सकता है। बेटी के माता-पिता को यह राशि पूरे 14 साल के लिए जमा करनी होगी। योजना के फॉर्म का PDF यहां Click करके डाउनलोड करें।

आप इस योजना का फॉर्म इन तरीकों से भर सकते हैं

सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए आपको नजदीकी डाकघर या बैंक से एक फॉर्म (सुकन्या समृद्धि योजना पंजीकरण) मिलेगा। इसमें आप अपने और अपने बच्चे के बारे में बुनियादी जानकारी भरते हैं। इसमें आपका नाम, पहचान पत्र, पता प्रमाण, आधार कार्ड और बेटी का नाम, उसका जन्म प्रमाण पत्र, उसके स्कूल प्रवेश पत्र आदि के बारे में जानकारी देनी होगी। फॉर्म में जानकारी भरने के बाद, आपको इसे पोस्ट ऑफिस या बैंक में वापस जमा करना होगा। इसके बाद अपनी सुविधा के अनुसार हर महीने उस खाते में पैसे जमा करते रहें। योजना के फॉर्म का PDF यहां Click करके डाउनलोड करें।

स्कीम का आधा पैसा निकाल सकते हैं लेकिन यह शर्त होगी

सुकन्या समृद्धि खाते से धन की निकासी के लिए बेटी की आयु सीमा तय की गई है। यह सीमा 18 वर्ष की है। जिस भी बेटी ने 18 वर्ष की आयु पूरी होने पर सुकन्या समृद्धि खाता खोला है, बेटी की शिक्षा और शादी के खर्च के लिए जमा राशि में से 50 प्रतिशत राशि निकाली जा सकती है। जब वह 21 वर्ष की हो जाएगी, तो उसके खाते से पूरी राशि निकाली जा सकती है। आप इस पैसे का उपयोग उस बच्चे की शिक्षा या विवाह सहित व्यवसाय शुरू करने के लिए भी कर सकते हैं। योजना के फॉर्म का PDF यहां Click करके डाउनलोड करें।

एक नजर में इसके फायदे जानिए

इस योजना में केंद्र सरकार द्वारा जमा राशि पर उच्च ब्याज का भुगतान किया जाता है, जो इस योजना का मुख्य आकर्षण है।

- सुकन्या समृद्धि खाता (सुकन्या समृद्धि अकाउन्ट) में दी जाने वाली ब्याज दर हर साल बदलती रहती है।

वर्तमान में, इस योजना के तहत निर्धारित ब्याज दर 7.6 प्रतिशत है। आने वाले वर्षों में यह बढ़ सकता है।

- यह योजना मूल रूप से गरीब और मध्यम आय वाले परिवारों की लड़कियों को सुरक्षित भविष्य देने के उद्देश्य से शुरू की गई है।

- महत्वपूर्ण बात यह है कि सुकन्या समृद्धि खाते में जमा की गई राशि को आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत आयकर से भी छूट प्राप्त है।

जानिए किन्हें और कैसे मिलता है सुकन्या योजना का लाभ

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Budget 2021
Budget 2021