लखनऊ : या तो यह जमातियों का शासन-प्रशासन के प्रति अवज्ञा का भाव है, या फिर जहालत। उप्र में पकड़े गए तब्लीगी जमात के लोग कोरोना वायरस से पैदा हुए संकट की गंभीरता को समझने के लिए किसी भी तरह तैयार नहीं हैं। यह सब जानते हुए भी कि इस वायरस से मौत हो सकती है। वे न सिर्फ हंगामा कर रहे हैं, बल्कि उनको ही बचाने की कोशिशों में लगे हुए स्वास्थ्य कर्मियों के साथ अभद्रता भी कर रहे हैं। गाजियाबाद में तो उन्होंने बीफ खाने तक की मांग कर डाली। दिल्ली में निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए बड़ी संख्या में जमातियों को पकड़कर प्रदेश में अलग-अलग अस्पतालों और अन्य जगहों पर क्वारंटाइन या आइसोलेशन में रखा गया है।

उनको सख्त हिदायत दी गई है कि वे 14 दिनों तक कहीं बाहर नही जाएंगे। लेकिन, यह जानते हुए कि उनके ऊपर मौत का खतरा मंडरा रहा है। वे दिशा-निर्देशों का मखौल उड़ाने के लिए खुलकर उतारू हैं। मसलन शनिवार को कन्नौज में अर्शी पैरामेडिकल कॉलेज के क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए 39 जमातियों ने खिड़की के शीशे तोड़कर भागने की कोशिश की। सिर्फ यही नहीं, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र तिर्वा में रखे गए शामली के 11 जमातियों ने खाने को लेकर जमकर हंगामा किया। फीरोजाबाद में भी जमातियों ने खुलकर दिशानिर्देशों की अवहेलना की। यहां मेडिकल कालेज में रखे गए 27 जमाती शनिवार शाम को वार्ड से बाहर आ गए और इकट्ठा होकर नमाज अदा की। साथ ही वह कॉलेज परिसर में जगह-जगह थूकते रहे।

पुलिस ने इन सभी को यूनिटी हॉस्पिटल भेजा है और रविवार दोपहर इन सभी जमातियों के खिलाफ महामारी अधिनियम व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। इससे पहले शिकोहाबाद के संयुक्त चिकित्सालय में बिहार के सात जमातियों के दीवारों पर थूकने की बातें सामने आई थी। यहां पर चार जमातियों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। आगरा के मधु रिसोर्ट में क्वारंटाइन किए गए जमातियों के संपर्क वाले 55 लोगों के सामूहिक नमाज अदा करने का मामला सामने आया है। ये जमाती एक साथ खड़े रहते हैं और अधिकारियो से बिरयानी की मांग करते हैं। वाराणसी में भी मेडिकल कालेज में जमातियों ने बिरयानी मांगी और चारों और गंदगी की। मऊ में इनकी हरकतों से प्रशासन काफी परेशान है।

बदायूं में महाराष्ट्र निवासी छह तब्लीगी कोरोना संदिग्ध हैं। उन्होंने तड़के ही नाश्ते की मांग कर डाली। शाहजहांपुर में 22 तब्लीगियों को रखा गया है जो अस्पताल के मेन्यू के मुताबिक खाने को तैयार नहीं। मुरादाबाद में पकड़े गए 25 जमातियों ने खाने में हैदराबादी डिश की मांग की है। उधर, बिजनौर जिला अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड में भर्ती इंडोनेशिया के छह जमातियों ने स्वास्थ्यकर्मियों से धक्का-मुक्की की कोशिश की। प्रयागराज में भी जमातियों ने स्वास्थ्य विभाग की टीम से अभद्रता की। प्रतापगढ़ के रानीगंज में तीन कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। सर्वे करने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम से अभद्रता कर रहे इनके समर्थकों पर पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना