Who is Luv Agarwal : देश में इन दिनों कोरोना का संकट गहराता जा रहा है। प्रतिदिन कितने नए मरीज संक्रमित हुए, कितनी मौतें हुईं, कितने स्‍वस्‍थ हुए और कितने संदिग्‍ध हैं, इसकी रोज अपडेट जानकारी केंद्र सरकार के एक आईएएस अधिकारी रोज मीडिया को देते हैं। उनकी प्रेस वार्ता का सभी दर्शकों को इंतजार रहता है। लॉकडाउन के दौरान लोग घरों में ही हैं, इसलिए इस मीडिया ब्रीफ को पूरे ध्‍यान से देखते व सुनते हैं। मीडिया को जानकारी देने का यह काम सीनियर आईएएस व स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल Luv Agarwal करते हैं। लोग अब उनका नाम व चेहरा बखूबी पहचानने लगे हैं। वे दोपहर 3 से शाम 4 के बीच नेशनल मीडिया सेंटर से संबोधित करते हैं। आइये जानते हैं लव अग्रवाल का प्रोफाइल क्‍या रहा है।

46 वर्षीय लव अग्रवाल Luv Agarwal मूल रूप उत्‍तर प्रदेश के सहारनपुर के रहने वाले हैं। वे आंध्र प्रदेश कैडर के आईएएस अधिकारी हैं। इसके अलावा वे एक आईआई‍टियन भी हैं। वर्ष 1993 में उन्‍होंने आईआईटी दिल्‍ली से मैकेनिकल इंजीनियरिंग पूरी की थी। इसके बाद वे सिविल सेवाओं की परीक्षा देने जुटे और इसमें वे पास हुए। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय में उनकी तैनाती के भी अपने मायने हैं। असल में, इस दिशा में उन्‍होंने लंबे समय तक काम किया है। महत्‍वपूर्ण पदों पर रहते हुए उन्‍होंने स्‍वास्‍थ्‍य के क्षेत्र में अरसा बिताया है और वे इसके प्रति सभी को जागरूक होना समय की जरूरत मानते हैं।

इसके बाद वर्ष 1996 में उन्‍हें आंध्र प्रदेश का कैडर मिला था। इस दौरान वे इस राज्‍य में माध्‍यमिक शिक्षा विभाग के निदेशक के पद पर रहे। आंध्र में उन्‍होंने स्‍वास्‍थ्‍य एवं शिक्षा के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय कार्य किया। आंध्र प्रदेश में ही वे स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण विभाग के कमिश्‍नर के पद पर भी रहे हैं।

2016 में आया जीवन में बदलाव, केंद्र का किया रूख

वर्ष 2016 को लव अग्रवाल के कार्य जीवन का अहम वर्ष माना जा सकता है। इसी साल उनकी प्रतिनियुक्ति केंद्र सरकार में हुई। अच्‍छा रिकॉर्ड देखते हुए मोदी सरकार ने अगस्‍त, 2016 में उन्‍हें स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय में संयुक्‍त सचिव के पद का जिम्‍मा सौंपा। इस पद पर उनकी नियुक्ति 5 वर्ष के लिए हुई थी, यानी वे 2021 तक यहां अपना कार्य दायित्‍व संभाल सकते हैं।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय में इतने मामलों की जिम्‍मेदारी

संयुक्‍त सचिव के तौर पर अग्रवाल के पास स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय में वैश्विक स्‍वास्‍थ्‍य, मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य, तकनीकी, लोक नीति आदि दायित्‍व हैं। केंद्र सरकार उन्‍हें अभी तक अनेक अंतरराष्‍ट्रीय मंचों पर देश का प्रतिनिधित्‍व करने का अवसर दे चुकी है। स्‍वास्‍थ्‍य की दिशा में उन्‍होंने अभी तक कई कार्यक्रमों में भारत की तरफ से प्रतिनिधित्‍व किया है।

आयुष्‍मान भारत योजना का दिया था प्रजेंटेशन

अग्रवाल ने गत जनवरी माह में संपन्‍न हुए G-20 देशों के हेल्‍थ वर्किंग ग्रुप में सम्‍मेलन में केंद्र सरकार की महत्‍वकांक्षी योजना आयुष्‍मान भारत योजना का एक प्रजेंटेशन भी दिया था। इसके अलावा वे G-20 देशों के लिए डिजिटल हेल्‍थ टॉस्‍क फोर्स बनाए जाने को लेकर भी एक्टिव रहे हैं।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना