नई दिल्ली। दुनिया के सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट के मालिह होने के अपने फायदे हैं। हालांकि, यह खिताब फिलहाल भारत के पास नहीं है। वैसे शक्तिशाली की बात आती है तो ज्यादातर लोगों को लगता है कि यह पासपोर्ट अमेरिका काही होगा लेकिन यह भी गलत है। दुनिया में सबसे शक्तिशाली पासपोर्ट जापान का है। वहीं इस लिस्ट में भारत का नाम काफी नीचे खिसक गया है। इससे पहले तक भारत के पासपोर्ट की स्थित बेहतर थी लेकिन 2020 के शक्तिशाली पासपोर्ट्स की लिस्ट में यह नीचे आ गया है।

जापान का पासपोर्ट रखने वालों को सबसे ज्यादा 191 देशों में वीजा फ्री एंट्री यानी बिना वीजा के एंट्री मिल सकती है वहीं इसके बाद सिंगापुर का नाम है। इससे पहले तक सिंगापुर पहले नंबर पर था। हालांकि, जापान और सिंगापर में सिर्फ एक देश में वीजा फ्री एंट्र की आंतर है। इसके बाद जर्मनी और दक्षिण कोरिया का नाम है जबकि दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका का नाम फिसलकर 8वें नंबर पर चला गया है।

दुनिया के सबसे फिसड्डी पासपोर्ट की लिस्ट देखें तो इसमें पहले नंबर पर अफगानिस्तान है वहीं दूसरे नंबर पर इराक, तीसरे पर सीरिया और चौथे नंबर पर पाकिस्तान है। यह वो देश हैं जहां आतंकवाद का असर ज्यादा ही है और इन जगहों पर कट्टरपंथी गतिविधियां ज्यादा होती हैं।

हेनले पासपोर्ट इंडेक्स की हालिया रिपोर्ट में भारत शक्तिशाली पासपोर्ट की सूची में दस पायदान फिसलकर 84वें स्थान पर पहुंच गया है। सूची में भारत अब मॉरिटेनिया और ताजिकिस्तान के समकक्ष हो चुका है। वर्ष 2020 की हालिया सूची से पहले भारत करीब एक दशक तक 74वें स्थान पर रहा है। हेनले पासपोर्ट इंडेक्स पूरी दुनिया के पासपोर्ट की रैंकिंग इस बात पर करता है कि उसके धारक बिना किसी पूर्व वीजा के कितने देशों की यात्राएं कर सकते हैं। इसकी वेबसाइट देशों की व्यापक सूची उपलब्ध करता है, जिसमें यह देखा जाता है कि उसके पासपोर्ट धारक कितने देशों में बिना वीजा, ई-वीजा, वीजा ऑन अराइवल या सामान्य वीजा से यात्रा कर सकते हैं।

Posted By: Ajay Barve

fantasy cricket
fantasy cricket