Bank Forgery Case : दिल्ली पुलिस ने NRI खाते से अवैध तरीके से पैसे उड़ाने की साजिश रचने के मामले में 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank) के तीन कर्मचारी भी शामिल हैं। इन कर्मचारियों पर बड़ी जमापूंजी वाले NRI खाते से अवैध रूप से पैसे निकालने की कोशिश करने का आरोप है। इस मामले का मास्टरमाइंड अभी पकड़ा नहीं जा सका है। पुलिस के मुताबिक इसे जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। दिल्ली पुलिस की साइबर सेल के डीसीपी केपीएस मल्होत्रा ने बताया, "एक NRI खाते से अवैध रूप से पैसे निकालने के प्रयास में शामिल 2 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें 3 HDFC बैंक के कर्मचारी भी शामिल हैं। इस खाते से आरोपी समूह द्वारा ऑनलाइन ट्रांजेक्शन का 66 बार प्रयास किया गया।"

दिल्ली पुलिस की कार्रवाई के बाद HDFC बैंक ने इन तीनों कर्मचारियों को सस्पेंड करने का ऐलान किया। बैंक ने यह भी जोर देकर कहा कि वह जांच में पुलिस और दूसरी एजेंसियों को पूरा सहयोग दे रहा है। बैंक ने मंगलवार को जारी एक बयान में कहा, "दिल्ली पुलिस ने हमारी एफआईआर के आधार पर कार्रवाई करते हुए कई लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें तीन हमारे बैंक के कर्मचारी हैं। हमने जांच का नतीजा आने तक इन कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया है। हमारे सिस्टम ने कुछ खातों में अवैध और संदिग्ध ट्रांजैक्शन को लेकर अलर्ट भेजा था। सिस्टम अलर्ट के आधार पर, हमने आगे और आवश्यक जांच के लिए पुलिस को मामले की सूचना दी और एफआईआर दर्ज कराई।"

कैसे हुई गिरफ्तारी?

साइबर सेल के डीएसपी ने बताया कि आरोपी ने धोखाधड़ी से चेक बुक हासिल की थी, जिसे बरामद कर लिया गया है। आरोपियो ने खाताधारक के अमेरिका-आधारित फोन नंबर के समान दूसरा मोबाइल फोन नंबर भी हासिल कर लिया था। खाते से निकासी के प्रयासों की जानकारी मिलते ही पुलिस ने तकनीकी सबूतों के आधार पर कई भौगोलिक स्थानों की पहचान की। उसके बाद दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में कुल मिलाकर 20 स्थानों पर छापे मारे गए और 12 लोगों की गिरफ्तारी की गई। इस मामले में अभी कुछ और जगहों पर छापेमारी की जा रही है और मामले की जांच चल रही है।

Posted By: Shailendra Kumar