Unlock 2.0 : कोरोना वायरस के खिलाफ जंग का सकारात्मक असर नजर आने लगा है। यही कारण है कि केंद्र सरकार ने 6 जुलाई से देशभर के सभी स्मारक खोलने की अनुमति दे दी है। गुरुवार को केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने के बाद 17 मार्च को देशभर के सभी स्मारक बंद करने का फैसला लिया था। इस तरह अब तक के रिकॉर्ड 111 दिन की बंदी के बाद ताजमहल भी 6 जुलाई को सैलानियों के लिए खुल जाएगा। ताजमहल के बंंद रहने का यह रिकॉर्ड समय है। इससे पहले ताजमहल को 1971 में भारत-पाक युद्ध के दौरान चार से 18 दिसंबर तक और सितंबर, 1978 में यमुना में बाढ़ के चलते सात दिन के लिए बंद रखा गया था। सभी स्थानों पर खास बंदोबस्त किए जा रहे हैं।

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) ने देशभर के 3600 से अधिक स्मारकों को संरक्षित घोषित किया है। केंद्रीय संस्कृति व पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल के निर्देश पर इन सभी को 17 मार्च की सुबह से सैलानियों के लिए बंद कर दिया गया था। 8 जून को सरकार ने प्रार्थना और पूजा वाले देशभर के 820 स्मारकों को खोलने का फैसला किया था, लेकिन इन स्मारकों में शामिल आगरा के 14 स्मारक कंटेनमेंट जोन में होने की वजह से नहीं खुल सके। -

यह किए जा सकते हैं इंतजाम

सभी स्मारकों में सैनिटाइजेशन का उचित इंतजाम किया जाएगा। भीड़ पर नियंत्रण के साथ शारीरिक दूरी का पालन कराया जाएगा। स्मारकों पर मैनुअल टिकट की बिक्री के स्थान पर केवल ऑनलाइन टिकट की बिक्री की जाएगी।

टर्न स्टाइल गेट बंद रखकर पर्यटकों को सीधे प्रवेश दिया जा सकता है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020