Unnao Victim Died: उन्‍नाव की दुष्कर्म पीड़िता आखिर जिंदगी की जंग हार गई। शुक्रवार रात 11.40 पर उसने आखिरी सांस ली। दिन भर उसकी हालत बेहद नाजुक बनी हुई थी। डॉक्‍टरों ने कहा था कि उसका बचना मुश्किल है। पीडि़ता को एयर लिफ्ट करके दिल्‍ली के सफदरगंज अस्‍पताल लाया गया था। अस्‍पताल के डॉक्‍टर शलभ कुमार (बर्न और प्‍लास्टिक विभाग के प्रमुख) ने बताया कि पीडि़ता को रात 11 बजकर 10 मिनट पर कार्डिअक अरेस्‍ट आया। इसके बाद उसे बचाने की कोशिशें की गईं लेकिन वह बच ना सकी। आखिर 11 बजकर 40 मिनट पर उसकी मृत्‍यु हो गई। दिन में सफदरजंग अस्पताल ने बुलेटिन जारी कर बताया था कि पीड़िता की स्थिति बहुत खराब थी। उसके बचने की उम्मीद बहुत कम थी। उसके शरीर का निचला हिस्सा बुरी तरह जल गया था, जिससे अंदरुनी अंगों को भी नुकसान पहुंचा था। देशभर में उसके लिए प्रार्थना की जा रही थी। दुष्कर्म पीड़िता को लाने के लिए विशेष कॉरीडोर बनाया गया था। पीड़िता को लेकर एंबुलेंस लखनऊ के अस्पताल से हवाई अड्डे गई थी। दिल्ली पहुंचने पर हवाई अड्डे से सफदरजंग अस्पताल की 1 किलोमीटर की दूरी 18 मिनट में तय की गई। इससे पहले हैदराबाद (Hyderabad) के बाद उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के उन्नाव से महिला के साथ दरिंदगी की खबर सामने आई है।

जमानत पर रिहा होने के बाद आरोपी ने अपने साथियों के साथ मिलकर नवविवाहित पीड़िता को जिंदा जलाने की कोशिश की। महिला की उम्र 20 वर्ष थी, जिसका शरीर 90 फीसदी जल चुका था। पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। महिला के साथ इसी साल मार्च में दुष्कर्म की कोशिश हुई थी, जिसका केस दर्ज किया गया था और आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। बता दें, दो दिन पहले ठीक ऐसी ही घटना बिहार के बक्सर (Buxer) में आई थी। इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Aditynath) ने भी मामले का संज्ञान लिया और अधिकारियों के पूरी रिपोर्ट बुलवाते हुए कहा कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

इस बीच, यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि पीड़िता पहले एक माह तक आरोपी के साथ रही थी। फिर उसने दुष्कर्म का केस दर्ज करवाया था। पुलिस ने तब भी अपना काम किया था और इस बार भी दोषियों को सख्त से सख्त सजा दिलाने का प्रयास किया जाएगा।

यह था पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक, 5 युवकों ने मिलकर महिला के साथ मार्च में दुष्कर्म किया था और अब जान से मारने की कोशिश की। जांच अधिकारियों ने बताया कि रेप के दोषी ने अपने पांच साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया। जब महिला अपने घर से बाहर थी, तब मोटरसाइकिल पर आए आरोपी ने उसे खेत में ले गए और पेट्रोल डाल कर आग लगा दी।

तीन आरोपी हुए गिरफ्तार

जनकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और महिला को नजदीकी अस्पताल में भर्ती करवाया है। हालत बिगड़ने के बाद उसे लखनऊ रेफर कर दिया गया। पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि दो अन्य फरार हैं। एक आरोपी ग्राम प्रधान का बेटा है, जिसके खिलाफ पीड़िता ने शिकायत दर्ज करवाई थी। इस केस के सामने आने के बाद लोगों में गुस्सा भड़क गया है। पीड़ित परिवार का कहना है कि अपराधियों के मन में पुलिस और कानून का जरा भी भय नहीं है।

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket