नई दिल्ली 26 January 2021 weather updates। पूरा उत्तर भारत आज कड़ाके की ठंड के बीत गणतंत्र दिवस मना रहा है। पहाड़ी इलाकों में हो रही भारी बर्फबारी का असर, उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में देखने को मिल है। कड़ाके की ठंड के साथ-साथ घने कोहरे और शीतलहर से लोग परेशान हैं। दिल्ली, हरियाणा, यूपी, बिहार सहित अन्य राज्यों में भी घना कोहरा छाया हुआ है। कोहरे के चलते कई ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है। घने कोहरे के कारण 22 से ज्यादा ट्रेनें देरी से चल रही है। फिलहाल इस ठंड और घने कोहरे से अभी राहत नहीं मिलेगी। मौसम विभाग के मुताबिक फिलहाल 3-4 दिनों तक और कड़ाके की ठंड सकती है।

राजधानी दिल्ली के मौसम का हाल

मौसम विभाग के मुताबिक राजधानी दिल्लवासियों को अगले दो-तीन दिन और ज्यादा ठंड का सामना करना पड़ेगा। न्यूनतम तापमान के 4 डिग्री सेल्सियस तक गिरने का अनुमान जताया गया है।। मौसम विभाग के कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि अधिकतम तापमान के लगभग 16 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। मौसम में यह बड़ा बदलाव उत्तर-पश्चिमी हवाओं के आने से हुआ है। उत्तर प्रदेश के मेरठ में आज न्‍यूनतम पारा 7 डिग्री और अधिकतम पारा 18 डिग्री तक रहने की आशंका जताई गई है।

कानपुर में सोमवार को 48 साल का रिकॉर्ड टूटा

कानपुर में शीतलहर, नमी, कोहरा, पश्चिमी विक्षोभ, चक्रवात और विपरीत चक्रवाती हवा के असर से ठंड बढ़ गई है। यहां बीते 48 साल का रिकार्ड टूट गया है। 1973 से 2021 तक जनवरी के महीने की बात की जाए तो सोमवार को अधिकतम तापमान सबसे कम रहा, वहीं न्यूनतम तापमान सबसे अधिक हो गया। इस तापमान के उतार चढ़ाव ने कानपुर में रिकॉर्ड बना दिया है। जनवरी, 1973 में अधिकतम तापमान 21.0 तो न्यूनतम तापमान 5.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। वहीं सोमवार यानी 25 जनवरी, 2021 को अधिकतम तापमान 15.2 और न्यूनतम तापमान 11 दर्ज किया गया।

स्काईमेट ने कहा, लंबा होगा सर्दी की सीजन

इधर स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत ने कहा कि ला नीना के प्रभाव के कारण इस साल सर्दी का सीजन ज्यादा लंबा रहेगा। जनवरी के अंतिम सप्ताह में भी ठिठुरन बरकरार है। हवा की दिशा अब उत्तर-पश्चिमी हो गई है। इसके साथ पश्चिमी हिमालय क्षेत्र की बर्फबारी का असर भी लगातार दिल्ली तक पहुंच रहा है। ऐसे में अभी इस सप्ताह तो ऐसी ही सर्दी बनी रहेगी।

उत्तर भारत के सबसे सर्द इलाके

शहर न्यूनतम तापमान

चुरू (राजस्थान) 3.4 डि. से.

नलिया (गुजरात) 4.1 डि. से.

हिसार (हरियाणा) 4.2 डि. से.

नारनौल (हरियाणा) 4.3 डि. से.

अमृतसर (पंजाब) 4.4 डि. से.

पचमढ़ी (मध्य प्रदेश) 6.4 डि. से.

बीकानेर (राजस्थान) 6.6 डि. से.

फुरसतगंज (उत्तर प्रदेश) 6.7 डि. से.

दिल्ली 7.4 डि. से.

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags