Weather Update : मानसून का रौद्र रूप अब नज़र आ रहा है। बिहार के बाद महाराष्‍ट्र में भारी बारिश और बाढ़ ने तबाही मचा दी है। दक्षिण भारत भी अछूता नहीं रहा है। अब मौसम का ताजा अनुमान बताता है कि मध्‍य भारत और उत्‍तर भारत में अब तेज हवाओं के साथ बारिश होगी। मौसम विभाग द्वारा देश के कई हिस्सों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। IMD ने उत्तराखंड में 7 अगस्त से भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। देहरादून सहित 6 जिलों में भारी बारिशका अनुमान लगाया गया है। जबकि 8 और 9 अगस्त को प्रदेश में कहीं-कहीं भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। अधिकांश शहरों में आंधी के साथ भारी बारिश की संभावना जताई गई है। इससे प्रभावित होने वाले शहरों के नाम यहां देखें।

राजस्‍थान में अजमेर, बाड़मेर, भीलवाड़ा, चित्तौड़गढ़, जालोर, जोधपुर, नागौर, पाली, राजसमंद, सिरोही और उदयपुर में तेज हवाओं के साथ बारिश और गरज के साथ अगले 6-8 घंटों के दौरान बारिश होगी। गुजरात के अहमदाबाद, अमरेली, आणंद, भरूच, भावनगर, बोटाद, छोटा उदयपुर, देवभूमि द्वारका, गांधीनगर, गिर सोमनाथ, जामनगर, जूनागढ़, कच्छ, खेड़ा, महिसागर, नर्मदा, नवसारी, पंच महल, पोरबंदर, सूरजकोट, सूरत, सुरेंद्रनगर, तापी, वडोदरा, वलसाड आदि शहरों में बारिश का दौर जारी रहेगा। केरल में तेज हवाओं के साथ बारिश होने की संभावना है। यहां मलप्पुरम, पलक्कड़, पठानमथिट्टा, तिरुवनंतपुरम, तरिसुर, वायनाड, अलापुजा, इरनोट, इडुकी, कुपुर, कोलायम, कोट्टायम, कोजिकोड आदि जिलों में तेज बारिश के साथ ही बाढ़ आने की भी आशंका है।

दिल्‍ली एनसीआर में होगी बारिश

भारतीय मौसम विभाग ने शुक्रवार को बताया कि दक्षिणी दिल्ली, दक्षिण-पश्चिम दिल्ली और नोएडा के कई इलाकों में अगले दो घंटे में हल्की बारिश होगी। हल्की बारिश का पूर्वानुमान जताया जा रहा है। वैसे अगले कुछ दिन तक रिमझिम फुहारों की ही संभावना है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department) के मुताबिक, शुक्रवार को भी दिन भर बादल छाए रहेंगे। 20 से 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने और हल्की बारिश होने की संभावना है। स्काईमेट वेदर के मुख्य मौसम विज्ञानी महेश पलावत (Skymet Weather chief meteorologist Mahesh Palawat) ने बताया कि अभी कई दिनों तक हल्की बारिश होने की ही संभावना है। भारी बारिश के लिए थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है।

'सिनलाखू' कराएगा उत्‍तर प्रदेश के इन शहरों में झमाझम बारिश

चक्रवाती तूफान 'सिनलाखू' की वजह से अगले दो से तीन दिन में झमाझम बारिश और सामान्य से काफी तेज हवा चलने के आसार हैं। इसका असर बुधवार से मौसम में दिखने लगा है। इससे कानपुर के साथ ही कानपुर देहात, औरैया, इटावा, फीरोजाबाद, शाहजहांपुर, बदायूं, बरेली व रामपुर आदि जिलों में बारिश हो सकती है। इसके साथ ही उत्तरी अरब सागर पर निम्न दबाव का नया क्षेत्र बन रहा है। चक्रवाती हवाओं का एक क्षेत्र छत्तीसगढ़ उत्तर पूर्व में भी बना है। चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डॉ. एसएन पांडेय ने बताया कि 'सिनलाखू' का असर हफ्ते भर तक रह सकता है लेकिन, दो-तीन दिन तक जोरदार बारिश हो सकती है।

हरियाणा में हो सकती है जोरदार बारिश

हरियाणा के लिए मौसम विभाग ने मौसम के पूर्वानुमान को लेकर राहत भरी खबर दी है। 9 अगस्त से 11 अगस्त के बीच राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में अच्छी बारीश होने की संभावना है। इस दौरान वातावरण में नमी अधिक होने तथा तापमान में हल्की बढ़ोतरी होने से कहीं -कहीं गरज-चमक वाले बादल बनने से कुछ एक स्थानों पर हवाओं के साथ हल्की बारिश भी संभावित है। चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खिचड़ ने बताया कि किसानों के लिए अच्‍छी खबर है। हरियाणा राज्य की तरफ आने वाली कमजोर मानसूनी हवाएं से 8 अगस्त तक राज्य में मौसम आमतौर पर परिवर्तनशील रहने, बीच-बीच मे बादलवाई आने तथा तापमान में हल्की बढ़ोतरी होने की संभावना है।

झारखंड में भारी बारिश की संभावना

झारखंड में अगले चार दिनों तक मौसम में उतार-चढ़ाव जारी रहेगा। इस दौरान दो दिनों तक तेज बारिश की भी संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार रांची, रामगढ़, हजारीबाग, पश्चिमी सिंहभूम, सरायकेला, खरसांवा, सिमडेगा आदि जिलों में बारिश के साथ वज्रपात होने की संभावना है। अगले पांच दिनों के मौसम पूर्वानुमान में बताया गया है कि शुक्रवार और शनिवार को राज्य में बारिश में कमी आएगी।

यह है मॉनसून का मौजूदा सिस्‍टम

स्‍कायमेट वेदर के अनुसार संभावना है कि 7 अगस्त से बंगाल की खाड़ी के उत्तरी भागों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उठेगा जो धीरे-धीरे प्रभावी होते हुए निम्न दबाव में तब्दील हो जाएगा। अगस्त के शुरुआती 10 दिनों में यह दूसरा निम्न दबाव का क्षेत्र होगा। यह सिस्टम थोड़ा दक्षिणावर्ती रुख अपनाएगा और दक्षिणी ओडिशा तथा उत्तरी आंध्र प्रदेश के तटों से जमीनी भागों पर पहुंचेगा। उम्मीद है कि यह सिस्टम 9 अगस्त को तटीय क्षेत्रों को पार कर सकता है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020