देश में पिछले कुछ दिनों से जारी शीतलहर और ठंड का प्रकोप अब कम होता महसूस हो रहा है। महीने की शुरुआत में मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के अलावा अन्य राज्यों में बारिश के कारण पारा गिरा था। लेकिन गुरुवार से अचानक मौसम में बदलाव महसूस हुआ है। मध्यप्रदेश के अलावा दिल्ली व अन्य कुछ राज्यों में न्यूनतम पारा दो डिग्री तक बढ़ा है। आने वाले दिनों में दिल्ली-एनसीआर के अलावा अन्य राज्यों में पारा और बढ़ सकता है। हालांकि, जम्मू-कश्मीर के ऊपरी इलाके में एक पश्चिमी विक्षोभ का क्षेत्र बना है।

मौसम की भविष्यवाणी करने वाली निजी एजेंसी स्कायमेट वेदर के अनुसार राजधानी में हवाओं से कुछ ऐसा ही लग रहा है। राजधानी में पारा भी बढ़ा है और राजधानी दिल्ली में न्यूनतम तापमान में भी अंतर आया है। पिछले दिनों जहां यह 8 डिग्री पर था वहीं अब 5 डिग्री बढ़कर 13 पर पहुंच गया है। दिन का तापमान भी बढ़ा है और शुक्रवार को तो यह 27.8 डिग्री पर पहुंच गया जो 27 नवंबर के बाद सर्वाधिक है। आने वाले दिनों में ऐसा ही मौसम देखने को मिल सकता है और पारे में बढ़ोतरी दर्ज होगी।

मध्यप्रदेश में भी आने वाले 7 दिनों में किसी भी महत्वपूर्ण मौसमी प्रणाली के आभाव में मौसम शुष्क और आरामदायक रहेगा। सूरज के उत्तरायण होने के कारण दिन और रात के तापमान में धीरे धीरे बढ़ोत्तरी होगी और आसमान मुख्यतः साफ रहेगा। ज़्यादातर भागों में उत्तर पश्चिमी दिशा से चलने वाली हवाओं का असर देखने को मिलेगा। आर्द्रता में भी कमी आने की संभावना है।

इसी तरह गुजरात में भी पारे में बढ़ोतरी दर्ज हुई है। इन दिनों राज्य के ज्यादातर इलाकों में पारा 30 के मध्य में दर्ज करवा रहे हैं। यहां तक कि कुछ इलाकों में तो दिन का तापमान सामान्य से अधिक होने लगा है।

हालांकि, जम्मू और कश्मीर के उत्तर में एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है, जिसका भारतीय क्षेत्र पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा लेकिन जम्मू-कश्मीर के कुछ इलाकों में बारिश के आसार हैं। उत्तरी पाकिस्तान पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र विकसित है।

Posted By: Ajay Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020