सम्भल। शहीद सुधीश के उप्र के सम्भल स्थित गांव पनसुखा मिलक में वही हुआ जिसका डर था। चालीस किलोमीटर के क्षेत्रफल में आधा दर्जन मंत्री व सपा के कद्दावर नेताओं के होने के बावजूद शहीद की अंत्येष्टि में इनका न पहुंचना गांव वालों को ही नहीं बल्कि शहीद के घर वालों को भी अखरा है।

शहीद की मां व पत्नी ने अन्न त्याग दिया। अब ये सीधे तौर पर गांव में सीएम अखिलेश यादव को बुलाने पर अड़ गई हैं। दोनों का कहना है कि जब तक गांव में सीएम नहीं आएंगे तब तक वह अन्न ग्रहण नहीं करेंगी।

ऐसे में अब जहां सपा के नेता असमंजस में हैं, वहीं प्रशासनिक अफसर भी इसका हल ढूंढने में जुटे हैं। इन सबके बीच डीएम भूपेंद्र एस चौधरी ने कहा कि ऐसी कोई जानकारी अभी तक उनके संज्ञान में नहीं आई है।

फिर भी इसकी सत्यता का पता लगाया जाएगा। शहीद सुधीश के रिश्ते के भाई राजेश कुमार का कहना था कि अन्त्येष्टि में प्रदेश सरकार के न मंत्री आए न सांसद। हम सबकी इच्छा है कि मुख्यमंत्री आएं।