शहर चुनें close
आपके शहर की खबरें आपके करीब

Photo Gallery : कोई ट्रक पर हुआ सवार, तो कोई कर रहा बस के लिए इंतजार

7 photos    |  Published Sat, 16 May 2020 01:54 PM (IST)
1/ 7
लॉकडाउन से प्रभावित हुए लोग
लॉकडाउन से प्रभावित हुए लोग

कोरोना वायरस को रोकने के लिए लॉकडाउन बढ़ने के साथ प्रवासी मजदूरों का मध्य प्रदेश से होकर गुजरना जारी है। कहीं वे ट्रक के ऊपर बैठकर घर जाने के लिए निकले हैं तो कहीं बसों के लिए घंटों इंतजार कर रहे हैं। भोपाल में लॉकडाउन एक पिता और बेटे फंस गए हैं। तस्वीरों में देखिए लॉकडाउन से प्रभावित हुए लोग।

2/ 7
इंदौर में फिर लौटेगी त्योहारों की रौनक
इंदौर में फिर लौटेगी त्योहारों की रौनक

कोरोना वायरस ने इंदौर शहर की रौनक छीन ली है। छोटे से छोटे त्योहार को पूरी शिद्दत से मनाने वाले इंदौर शहर में त्योहार की रंगत फिर छा जाएगी, यही उम्मीद जगा रहा है राजकुमार ब्रिज के ऊपर बना ये चित्र। यहां से गुजरने वाले मजदूर भी यही उम्मीद लेकर घर जा रहे हैं। फोटो: राजू पवार

3/ 7
बच्चे के साथ सड़क पर गुजार रहे दिन
बच्चे के साथ सड़क पर गुजार रहे दिन

भोपाल के हमीदिया अस्पताल में अपने तीन साल के बच्चे सनी का इलाज कराने राहतगढ़ निवासी रामकिशन कुशवाह दो माह पहले भोपाल आए थे। अब ये लॉकडाउन होने के कारण अपने घर नहीं पहुंच पा रहे हैं। कोई खाना दे जाता है तो खा लेते हैं और हबीबगंज स्टेशन पर रात बिता रहे हैं। दिन में भोजपुर क्लब के सामने पेड़ की छांव में बच्चें को लेटाकर भोजन करते रामकिशन कुशवाह। फोटो : प्रवीण दीक्षित

4/ 7
ट्रक में ही बन रहा खाना
ट्रक में ही बन रहा खाना

भोपाल के करीब मंडीदीप में लॉकडाउन के चलते ट्रक पर चलाने वाले ड्राइवर और अन्य कर्मचारियों ने ट्रक के केबिन को किचन बना लिया है। होटल और ढाबे बंद होने के कारण खाना खाने का संकट होने पर ट्रक में ही स्टोव पर खाना बनाते मुकेश किरधार और अनिल नामदेव। फोटो : प्रवीण दीक्षित

5/ 7
ट्रक के ऊपर मजदूर
ट्रक के ऊपर मजदूर

भोपाल में राजगढ़ चौराहा नया बायपास के पास ट्रक के ऊपर बैठकर अपने घर जाते मजदूर।

6/ 7
प्रवासी मजदूरों को कराया भोजन
प्रवासी मजदूरों को कराया भोजन

जबलपुर में कटंगी बायपास से गुजरने वाले प्रवासी मजदूरों को भोजन कराया जा रहा है।

7/ 7
बस के लिए लंबा इंतजार
बस के लिए लंबा इंतजार

जबलपुर में दीनदयाल बस टर्मिनल में अपना डेरा लिए बस के इंतजार में बैठे मजदूर। इन्हें लंबा इंतजार करने के बाद बस मिल पाई।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK