शहर चुनें close
आपके शहर की खबरें आपके करीब

Photo Gallery : तस्वीरों में देखिए मध्य प्रदेश में कोरोना लॉकडाउन का हाल

6 photos    |  Published Sun, 17 May 2020 02:22 PM (IST)
1/ 6
लॉकडाउन में कहीं मुश्किल तो कहीं प्रकृति के रंग
लॉकडाउन में कहीं मुश्किल तो कहीं प्रकृति के रंग

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान अलग-अलग तस्वीरें सामने आ रही हैं। कहीं लोग अपने घर पहुंचने के लिए जान जोखिम में डाल रहे हैं। वहीं प्रकृति का एक अलग ही नजारा दिख रहा है। वहीं इस लॉकडाउन में किसान सब्जियां नहीं बिकने से परेशान हैं।

2/ 6
बाइक पर बैठी कार से भी ज्यादा सवारी
बाइक पर बैठी कार से भी ज्यादा सवारी

कोरोना वायरस लॉकडाउन के दौरान लोग अलग-अलग राज्यों से पैदल, बाइक, ट्रक और अन्य वाहनों से घर वापसी कर रहे हैं। वायरस से बचाव के लिए सुरक्षित शारीरिक दूरी जरूरी है, लेकिन इस नियम का पालन नहीं हो रहा। ग्वालियर-शिवपुरी हाईवे पर एक बाइक पर 6 लोग बैठकर जाते नजर आए। फोटो : राकेश वर्मा

3/ 6
कोरोना ने सिखा दिया खाने से पहले हाथ धोना
कोरोना ने सिखा दिया खाने से पहले हाथ धोना

कोरोना वायरस संक्रमण ने सभी को सफाई का महत्व समझा दिया है। लोग अब इसका विशेष ध्यान रख रहे हैं। श्रमिक स्पेशल ट्रेन से जबलपुर रेलवे स्टेशन पहुंची बच्ची खाने से पहले हाथ साफ करते हुए।

4/ 6
सूनी सड़क पर लाल पलाश के फूल
सूनी सड़क पर लाल पलाश के फूल

पलाश के फूल देखने में जितने आकर्षक हैं, उतने ही वे अपनी भीनी सुगंध से लोगों को मोहित कर देते हैं। इसे जंगल की आग भी कहा जाता है। जबलपुर लॉकडाउन के दौरान सूनी सड़क पर बिछे ये फूल प्रकृति की सुंदरता बता रहे हैं। फोटो : उमा शंकर मिश्रा

5/ 6
कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ और ऐसी लापरवाही
कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ और ऐसी लापरवाही

खंडवा में पंधाना रोड मैदान पर सब्जी बाजार लगने के दौरान लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी, ऐसे समय में जब कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है, तब यह तस्वीर डराने वाली है।

6/ 6
मेहनत से उगाई सब्जी को खुद हटाने को मजबूर
मेहनत से उगाई सब्जी को खुद हटाने को मजबूर

कोरोना वायरस लॉकडाउन में सब्जियों की बिक्री बंद हो गई है, ऐसे में किसान परेशान हैं। खंडवा जिले के कतरगांव में एक किसान पत्तागोभी की सब्जी हटाते हुए, ताकि वो कोई दूसरी फसल लगा सके।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK