जयपुर। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर राजस्थान सरकार की ओर से प्रदेश भर में 150 स्थानों पर रक्तदान शिविर लगाए जाएंगे। इसके साथ ही करीब डेढ़ लाख से ज्यादा युवाओं से रक्तदान के संकल्प पत्र भी भरवाए जाएंगे। ये शिविर चिकित्सा विभाग, उच्च शिक्षा विभाग और तकनीकी शिक्षा विभाग की ओर से प्रदेश भर के चिकित्सा केन्द्रों, काॅलेजों और तकनीकी शिक्षण संस्थनों में आयोजित होंगे।

राज्य के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा, तकनीकी शिक्षा मंत्री सुभाष गर्ग और उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंहभाटी ने प्रदेश के सभी जिला कलेक्टर्स, पुलिस, चिकित्सा, उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा और संस्कृत शिक्षा से जुड़े अधिकारियों शिविरोकी तैयारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों से कहा है कि इस बार रक्तदान के अलावा लोगों को रक्तदान का संकल्प लेेने के लिए प्रेरित करें। उन्होने बताया कि शिविरों मंे आने वाले सभी युवाओं का रक्त संबंधी डाटा एकत्र किया जाएगा और इसके आधार पर हर जिले में ‘मास्टर डेटा ऑफ ब्लड डोनर‘ तैयार किया जाएगा। इस तरह जरूरत पड़ने पर संबंधित समूह के रक्त के लिए संबंधित व्यक्ति को रक्तदान के लिए आसानी से बुलाया जा सकेगा।

स्वास्थ्य एवं तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री सुभाष गर्ग ने कहा कि प्रदेश के युवा 2 अक्टूबर को अधिक से अधिक तादात में रक्तदान या रक्तदान का संकल्प लेकर बापू को सच्ची श्रद्धांजलि दें और रक्तदान का रिकॉर्ड कायम करें। उच्च शिक्षा राज्य मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्र, छात्र संगठन और युवा इसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा लें। उन्होने बताया कि रक्तदान को प्रेरित करने के लिए लगातार तीन सत्र तक रक्तदान करने पर स्नातकोत्तर कक्षाओं में प्रवेश में एक प्रतिशत बोनस अंकों का लाभ दिया जाएगा।

Posted By: Navodit Saktawat