जयपुर। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने संकेत दिए है कि फुटबॉल और हॉकी की तरह अब क्रिकेट में भी रेड कार्ड नियम लागू हो सकता है। जयपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में भाग लेने आए अनुराग ठाकुर ने मीडिया से बातचीत में कहा कि इस नए नियम पर फिलहाल विचार किया जा रहा है। इसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जल्द ही हरी झंडी मिलने की उम्मीद है।

ठाकुर ने कहा कि अनुशासनहीनता के दोषी पाए जाने वाले क्रिकेटरों पर मौजूदा नियमों को कड़ा करने की जरूरत महसूस की जा रही है। रेड कार्ड नियम लागू करना भी उसी कवायद का एक हिस्सा है। हालांकि ठाकुर ने क्रिकेट में बदलाव को लेकर यह भी स्पष्ट किया कि इस खेल में कम समय में ज्यादा बदलाव किया जाना सही नहीं है। उन्होंने कहा कि इन बदलावों से क्रिकेट को देखने और समझने वालों को परेशानियां आती हैं।

दो माह से समय मांग रहे हैं लेकिन लोढा समिति नहीं दे रही

अनुराग ठाकुर ने कहा कि बीसीसीआई ने लोढा समिति की लगभग 85 फीसद सिफारिशें मान ली हैं। बाकी बची सिफारिशें ऐसी हैं जिन्हें लागू किए जाने पर बीसीसीआई के अधिकतर सदस्य असहमत हैं। ठाकुर ने कहा कि बीसीसीआई एक स्वायत्तशासी संस्था है। ऐसे में इसे नए नियम बनाने और उन्हें लागू करने का अधिकार है। जिन बची हुई सिफारिशों को लागू करने पर गतिरोध है, उसपर बातचीत के लिए बीसीसीआई ने लोढा समिति से 2 माह से समय मांगा हुआ है, लेकिन समय नहीं दिया जा रहा।

ललित मोदी पर कोई समझौता नहीं

ठाकुर ने राजस्थान क्रिकेट संघ के अध्यक्ष ललित मोदी के मामले में बोर्ड की सख्ती जारी रहने के संकेत दिए और कहा कि राजस्थान में कई प्रतिभाएं, लेकिन राजस्थान क्रिकेट संघ का निलंबन जारी रहेगा। ठाकुर ने कहा कि इसका फैसला खुद आरसीए के पदाधिकारियों को करना है कि उन्हें एक व्यक्ति विशेष से प्यार है या फिर खेल से। एक व्यक्ति की वजह से राजस्थान में खेल को नुकसान हो रहा है जो सही नहीं है। मौजूदा समस्या के लिए स्वयं आरसीए जिम्मेदार है। खेल के हित में आरसीए को तय करना है कि वे किसके साथ हैं।

उन्होंने कहा कि वे इस विवाद के चलते खिलाड़ियों का भविष्य खराब नहीं कर सकते हैं, इसके लिए बीसीसीआई ने राज्य के खिलाडियों को सभी प्रतियोगिताओं में खेलने की इजाजत दी हुई है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket