राजस्थान में राज्यसभा चुनाव का प्रशिक्षण देने के लिए बुलाई गई भाजपा विधायक दल की बैठक चुनाव स्थगित होने के कारण कोरोना पर केन्द्रित हो गई। बैठक में विधायकों ने अपने एक माह का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में देने के पत्र पर हस्ताक्षर किए और कोरोना संक्रमण से बचाव के उपायों पर चर्चा की। बैठक में विधायकों को पूरी स्वास्थ्य जांच के बाद ही प्रवेश दिया गया और दूर दूर बैठाया गया।

राज्यसभा चुनाव 26 को होेने थे और पार्टी ने इसी दृष्टि से अपने सभी विधायको को चुनाव में मतदान का प्रशिक्षण देने के लिए जयपुर बुला लिया था। मंगलवार सुबह ही चुनाव आयोग ने चुनाव स्थगित कर दिए। ऐसे में जितने विधायक पहुंचे उनके साथ बैठक कर ली गई और जो नहीं पहुंचे थे उन्हें रोक दिया गया।

पार्टी के प्रदेश कार्यालय में विधायकों के प्रवेश से थर्मल स्कैनिंग की गई। इसके बाद सेनेटाइज कर और मास्क लगाकर प्रवेश दिया गया। बैठक के बाद मीडिया से बातचीत में प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने बताया कि चुनाव स्थगन आज ही आई, जबकि कई विधायक पहले ही आ गए थे। ऐसे में जो आए थे, उनके साथ ही बैठक की गई।

चुनाव स्थगित होने के कारण चुनाव पर चर्चा के बजाए कोरोना से बचाव के उपायों के बारे में विधायकों की भूमिका पर चर्चा हुई। विधायकों से कहा गया है कि टेलिफोन से कार्यकर्ताओं के सम्पर्क में रहें और लोगों को जागरूक करते रहें। इसके साथ ही जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए जो हो सकता है वह किया जाए। भाजपा विधायकों ने अपने 1 माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का फैसला किया है।

वहीं नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने कहा कि प्रदेश और केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए जिस प्रकार के कदम उठाए हैं, वे काबिले तारीफ है और भाजपा का हर कार्यकर्ता इसमें पूरा सहयोग देगा। कटारिया ने कहा कि हम सब चाहते हैं कि मौजूदा महामारी नियंत्रण में रहे और इसके लिए जरूरी है कि हम सब सरकारी गाइडलाइन और दिशा-निर्देशों का पूरा पालन करें।

कांग्रेस ने स्थगित कर दी बैठक- राज्यसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस विधायक दल की बैठक भी मंगलवार शाम को होनी थी, लेकिन इसे स्थगित कर दिया गया। पार्टी के प्रदेश प्रभारी महासचिव अविनाश् पाण्डे और प्रत्याशी केसी वेणुगोपाल का दौरा भी रदद कर दिया गया।

Posted By: Navodit Saktawat

fantasy cricket
fantasy cricket