जोधपुर 27 जून। राजस्थान में पंजाब के सीमावर्ती क्षेत्रों से आ रहे दूषित जल को लेकर केंद्रीय जलशक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा है कि हमने पंजाब सरकार, राजस्‍थान सरकार, नमामि गंगे टीम साथ लेकर एक चर्चा की थी। इसके लिए हमने एक संयुक्‍त टीम बनाई है, जो अगले सप्‍ताह तक रिपोर्ट देगी। उसी रिपोर्ट के आधार पर आगे का शेष काम होगा। इसे लेकर केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) की टीम भी अपनी रिपोर्ट बना रही है। साथ ही भाखड़ा ब्यास प्रबंधन बोर्ड (बीबीएमबी) को अपशिष्ट जल का प्रबंधन करने की योजना बनाने के निर्देश दिए गए हैं।

जोधपुर प्रवास के दौरान रविवार को केंद्रीय मंत्री शेखावत ने कहा कि आसपास के क्षेत्र से सीवरेज और औद्योगिक कचरा दोनों नदी में डाले जाते हैं। जो हर‍िके बैराज से राजस्‍थान के विभिन्‍न हिस्‍सों में पीने के पानी और खेती-बारी के लिए आने वाले पानी को प्रदूषित करता है। इस बात को लेकर पिछले 20 वर्षों से संघर्ष चल रहा था। अनेक बार मामला न्‍यायालयों में भी गया है। पंजाब की सरकार पर न्‍यायालय ने भी जुर्माना लगाया था। हमने 2019 में इस मामले को टेकअप किया। पंजाब के मुख्‍यमंत्री ने व्‍यक्तिगत रूप से आकर कहा था कि आप इन फैक्ट्रियों को बंद न करें, हम इस मसले के लिए जो भी जरूरी कदम हैं, उसे उठाएंगे। लेकिन कोविड की आपदा के कारण कुछ विलंब हुआ है।

केंद्रीय मंत्री शेखावत ने बताया अबकी बार 70 दिन का नहर क्‍लोजर था। इस क्‍लोजर में जो सीवेज का पानी एकत्रित हुआ था, उसने और ज्‍यादा चुनौती पैदा हुई है। राजस्‍थान का प्रतिनिधि मंडल प्रदेश अध्‍यक्ष सतीश पुनिया के नेतृत्‍व में सारे विधायक और सांसद बीकानेर, हनुमानगढ़, श्रीगंगा नगर और जैसलमेर क्षेत्र के आए थे। उन्‍होंने बताया था कि हरिके बैराज से काला दूषित पानी छोड़े जाने से राजस्‍थान की इंदिरा गांधी नहर, गंग नहर और भाखड़ा-नांगल सिंचाई तंत्र पर सीधा प्रभाव पड़ रहा है। पंजाब से जो दूषित जल नहरों के माध्यम से राजस्थान पहुंच रहा है वो जो जन-धन दोनों के लिए हानिकारक है। इंदिरा गांधी नहर से करीब 2 करोड़ की आबादी जुड़ी हुई है। इस मामले में केंद्रीय मंत्री शेखावत ने हाल ही में कहा था कि हमारा उद्देश्य इस समस्या का स्थायी और जनहितकारी निदान है।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags