जयपुर। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने बुधवार को जयपुर के एक सरकारी स्कूल में बच्चों को अपने हाथ से मिड डे मील परोसा। प्रतापनगर सेक्टर छह में स्थित सरकारी संस्कृत स्कूल में क्लिंटन को अपने बीच पाकर बच्चे खुशी से झूम उठे। क्लिंटन ने अक्षय पात्र फाउंडेशन द्वारा बच्चों के लिए दोपहर भोजन योजना के तहत दिए जाने वाले भोजन की प्रशंसा की। बच्चों से बात करते हुए उन्होंने यह भी बताया कि वह जल्द ही नाना बनने वाले हैं।

गौरतलब है कि अक्षय पात्र का किचन उत्तर भारत का सबसे बड़ा किचन माना जाता है। इसमें मात्र तीन घंटे में दो लाख पांच हजार रोटियां, छह टन दाल और पांच टन चावल तैयार होता है। यहां से प्रतिदिन 1.25 लाख बच्चों को मिड डे मील बना कर 1100 स्कूलों में भेजा जाता है। इसके अतिरिक्त 20 हजार आंगनबाड़ी कर्मियों और चार हजार मजदूरों को पांच रुपये के हिसाब से भोजन उपलब्ध कराया जाता है। किचन में जहां तीन सौ लोग कार्यरत है, वहीं पैक्ड फूड को अलग-अलग स्कूलों में पहुंचाने के लिए 150 लोग ओर 65 वाहन हैं। किचन में रोटी बनाने और चावल साफ करने के लिए मशीन का प्रयोग होता है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket