जोधपुर । कोरोना संभावित पर प्रशासनिक स्तर पर चल रही कार्रवाई में एक बीएलओ का अपहरण किए जाने का मामला सामने आया है। दो सगे भाईयों ने मामले में जानकारी देने के इंकार करने के साथ बीएलओ का अपहरण कर किया। जिसके बाद बीएलओ को गाड़ी से कूद कर अपनी जान बचानी पड़ी। पुलिस ने इस बारे में दोनों अभियुक्त भाईयों को गिरफ्तार किया है।

चितौडग़ढ़ से आए थे आरोपी

जोधपुर के राजीव गांधी नगर थानाधिकारी जयकिशन सोनी ने बताया कि लॉक डाउन के बीच थाना क्षेत्र के पोपावास में बीएलओ ओमप्रकाश जाट की ड्यूटी लगी हुई थी। तब गांव मे रहने वाले दो भाईयों भगवानाराम व मोहनराम पुत्र बागाराम के बाहर से आने की जानकारी हुई। इस पर बीएलओ ओमप्रकाश जाट वहां पहुंचे। बताया गया कि ये दोनों भाई चितौडग़ढ़ से आए हुए थे। उनके पास कागजी कार्रवाई के नोटिस था। तब दोनों भाईयों ने पहले मारपीट की और कागजात को फाड़ डाला। मगर बाद में शाम को दोनों भाई एक बोलेरो कैंपर लेकर बीएलओ ओमप्रकाश के पास पहुंचे और अपहरण कर अपने साथ ले गए।

इस पर बीएलओ ने कैंपर गाड़ी से कूद कर अपनी जान बचाई। इस पर वे जख्मी भी हो गई। थानाधिकारी जयकिशन सोनी ने बताया कि बीएलओ की रिपोर्ट पर राजकार्य में बाधा उत्पन्न करने का केस दर्ज किया गया है। दोनों भाईयों को गिरफ्तार कर पूछताछ की जा रही है। गाड़ी बरामदगी के प्रयास भी चल रहे है। गौरतलब है इन दिनों देशभर में लॉकडाउन और कुछ शहरों में कर्फ्यू चल रहा है। कोरोना वायरस के प्रकोप को काबू में करने के लिए सरकार ने यह कवायद की है। इसके तहत लोगों के आवागमन पर पूरी तरह से रोक लगाई गई है।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस