राजस्थान में कोरोना वायरस के नाम पर दहशत फैलाने के कुछ नए तरीके सामने आए हैं। कोटा में कुछ महिलाएं घरों के बाहर थूकती नजर आईं तो टोंक के मालपुरा में कुछ घरों में अखबार में बांध कर नोट फेंक दिए गए। जोधपुर में भी कुछ घरों के लेटर बाॅक्स में नोट पड़े मिले। पुलिस के मुताबिक, कोरोना को लेकर लोगों में जिस तरह की दहशत है, उसे देखते हुए अब कुछ शरारती लोग इसका गलत फायदा उठा रहे हैं और दहशत फैलाने के नए तरीके अपनाते दिख रहे हैं।

कोटा का मामला सीसीटीवी में कैद

कोटा के गुमानपुरा इलाके के वल्लभबाड़ी इलाके में संदिग्ध महिलाओं के घरों में थूकने का मामला सामने आया है। घटना के बाद क्षेत्रवासियों ने गुमानपुरा थाना पुलिस को घटना की सूचना दी। पुलिस की टीम ने काफी देर तक महिलाओं की तलाश की, लेकिन महिलाओं का कोई सुराग नहीं लगा।

क्षेत्रवासियों ने पुलिस को बताया कि ये 4-5 संदिग्ध महिलाएं थैलियों में थूक लगा कर घरों में फेंक रहीं थी। साथ ही घरों में थूक भी रही थीं। पुलिस ने बताया कि मामले के बाद नगर निगम की टीम को बुलाकर पूरे क्षेत्र को सैनिटाइज करवाया गया है। साथ ही सीसीटीवी फुटेज के आधार पर इन महिलाओं की तलाश की जा रही है।

जानिए टोंक का पूरा किस्सा

वहीं टोंक के मालपुरा में तीन घरों में सोमवार सुबह अखबार के साथ पांच-पांच और दस-दस के नोट बंधे हुए मिले। इन परिवारों ने भी पुलिस को सूचना दी और नोटों को हाथ नही लगाया। वहीं जोधपुर में भी रविवार को इस तरह की घटना सामने आई थी, जिसमें लोगों के घर के बाहर लगे लैटर बाॅक्स में नोट पडे मिले, हालाकि ये नकली नोट थे। लोगों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने आ कर नोट जलवा दिए। साथ ही अधिकारियों ने लोगों से अलर्ट रहने को कहा है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस