जयपुर। CoronaVirus in Rajasthan: राजस्थान में कोरोना वायरस की मौजूदा स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार ने 31 मई के बाद भी रात्रिकालीन कर्फ्यू जारी रखने का फैसला किया है। राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रात्रिकालीन कर्फ्यू के आदेश जारी किए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के खतरे को कम करने के लिए इसमें किसी प्रकार की शिथिलता नहीं दी जाएगी ।

गहलोत ने शुक्रवार रात को कोरोना संक्रमण को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की। इसमें उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कंटेनमेंट क्षेत्र का पुनः निर्धारण एक्टिव केस की संख्या के अनुसार किया जाए, जिससे केवल संक्रमित क्षेत्र में ही कर्फ्यू जारी रहे। हेल्थ प्रोटोकॉल का सही तरह से पालन करने के निर्देश भी उन्होंने जारी किए। उन्होंने ये भी कहा कि जिला अस्पताल से लेकर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों तक बेहतरीन हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर तय किया जाए।

सीएम गहलोत ने कहा कि निजी अस्पतालों में कोरोना के निःशुल्क इलाज को लेकर चिकित्सा विभाग द्वारा एडवाइजरी जारी की जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों को नि:शुल्क इलाज उपलब्ध कराने के लिए निजी अस्पताल मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए अपनी नैतिक जिम्मेदारी निभाएं।

उन्होंने कोरोना के दौर में बच्चों के टीकाकरण अभियान में किसी प्रकार की कमी नहीं रहनी चाहिए। सरकारी अस्पतालों में पहले की तरह ही बच्चों के टीकाकरण किए जाएं। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रदेश के राजकीय चिकित्सालयों में मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं की समुचित उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। साथ ही लॉकडाउन अथवा कोरोना महामारी के कारण आम लोगों को असाध्य एवं अन्य बीमारियों के उपचार को लेकर किसी परेशानी का सामना नहीं करना पडे़, ये भी सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने अनावश्यक खर्चों पर रोक के लिए विशेषज्ञों की कमेटी बनाने के निर्देश भी दिए।

बैठक में अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य रोहित कुमार सिंह ने बताया कि कोरोना संक्रमण को लेकर राजस्थान की स्थिति अन्य राज्यों के मुकाबले बेहतर है और यहां पिछले 6 दिनों में एक्टिव मामलों की संख्या स्थिर है। इसके अलावा प्रदेश में रिकवरी दर लगातार बढ़ रही है। उन्होंने बताया कि पिछले 3 दिनों में प्रवासी श्रमिक, ग्रामीण क्षेत्र सहित अन्य स्थानों पर सभी तरह के पॉजिटिव मामलों में कमी आई है। स्थिति ऐसी है कि कर्फ्यू केवल शहरी इलाकों तक सीमित कर दिया गया है।

Posted By: Rahul Vavikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags