जोधपुर, 15 जुलाई। एम्स जोधपुर के हृदय रोग विभाग के विशेषज्ञों ने एक मरीज के शरीर में नवीनतम तकनीक के बायो एब्जॉर्वेबल स्टेंट का सफलतापूर्वक प्रत्यारोपण किया। एम्स जोधपुर के चिकित्सा अधीक्षक, डॉ. महेन्द्र कुमार गर्ग ने बताया कि बीकानेर के हार्ट अटैक से पीड़ित 52 वर्षीय एक मरीज को एम्स में भर्ती किया गया। चिकित्सकों ने एंजियोग्राफी के जरिए ब्लॉकेज का पता लगाया और स्टेंट लगवाने की सलाह दी। मरीज की स्वीकृति के बाद ब्लॉकेज हटाने के लिए उसके दिल में एमईआरईएस 100 माईक्रोन बायो एब्जॉर्वेबल स्टेंट लगाया गया।

डॉ. राहुल चौधरी ने बताया कि संपूर्ण एंजियोप्लास्टी कोरोनरी ईमेजिंग की सहायता से की गई ताकि स्टेंट के साईज़ और लम्बाई का सही अनुमान लगाया जा सके। राजस्थान के किसी भी सरकारी संस्थान में इस तकनीक से की गई यह अपनी तरह की प्रथम एंजियोप्लास्टी है। इस ऑपरेशन को ह्दयरोग विभाग के डॉ. राहुल चौधरी, डॉ. सुरेंद्र देवड़ा और डॉ. अतुल कौशिक ने नर्सिंग स्टाफ एवं तकनीकी स्टाफ की मदद से संपन्न किया।

क्या होता है बायो एब्जॉर्वेबल स्टेंट?

हृदय की कोरोनरी आर्टरी में ब्लॉकेज़ होने पर सामान्यतया एंजियोप्लास्टी या बाईपास सर्जरी द्वारा इसे ठीक किया जाता है। बिना सर्जरी के एंजियोप्लास्टी द्वारा स्टेंट लगाना काफी कारगर उपचार है, लेकिन कई मामलों में मेटलिक स्टेंट फिर से बंद हो जाता है या मरीज को स्टेंट से जुड़ी अन्य समस्याएं हो सकती हैं। लेकिन अब नवीनतम तकनीक से बनाये गए स्टेंट आ गये हैं, जो कुछ समय बाद शरीर में ही घुल जाते हैं और आर्टरी सामान्यरूप से कार्य करने लगती है। पुरानी तकनीक से लगाए गए मेटलिक फ्रेम से बने स्टेंट हमेशा आर्टरी में रहते हैं, लेकिन बायो एब्जॉर्वेबल स्टेंट ऐसी तकनीक है जो पोलिमर से बना होता है और शरीर में इंप्लाट होने के दो से तीन साल बाद अपने आप घुल जाता है। स्टेंट घुलने के बाद आर्टरी प्राकृतिक अवस्था में आ जाती है। कम आयु के मरीज़ों की एंजियोप्लास्टी के लिए बायो एब्जॉर्वेबल स्टेंट और भी अधिक उपयोगी माना जाता है।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags