Electricity Bill: राजस्थान में बिजली उपभोक्ताओं को बिजली कंपनी की बेरुखी का सामना करना पड़ रहा है। दरअसल, लॉकडाउन के दौरान कई बिजली उपभोक्ता बिल जमा नहीं कर सके। एक-एक कर चार महीने निकल गए। अब बिजली कंपनी ने फरमान सुनाया है कि चार महीने का बिजली बिल एक साथ जमा करना होगा। यही नहीं, इस अवधि के लिए 2 फीसदी की दर से पेनाल्टी भी वसूली जाएगी। जो लोग ऐसा नहीं करेंगे, उनकी बिजली काट दी जाएगी। बकाया राशि जमा नहीं हाेने पर जुलाई के दूसरे सप्ताह से बिजली कनेक्शन काटना शुरू कर दिया जाएगा।

आम आदमी से लेकर किसान और उद्योग पर पडे़गी मार

दरअसल, राजस्थान के प्रमुख शहरों, जयपुर, जोधपुर और अजमेर में डिस्कॉम के प्रबंधन ने इस संबंध में अपने कर्मचारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं। यह नियम राजस्थान के आम उपभोक्ताओं के साथ ही किसानों पर भी लागू होगा। कंपनी की ओर से कहा गया है कि 150 यूनिट से ज्यादा बिजली खपत करने वाले घरेलू और औद्योगिक श्रेणी के उपभोक्ताओं को विलंब शुल्क भी भरना होगा। जयपुर डिस्कॉम के डायरेक्टर फाइनेंस एके जोशी के मुताबिक, 30 जून तक बिल स्थगित थे। अब इसे आगे नहीं बढ़ाया है। अब रूटीन बिलिंग होगी।

कोरोना काल में बिजली के बील की दोहरी मार

राजस्थान में कोरोना के मुश्किल समय में लोगों पर महंगी बिजली की दोहरी मार पड़ी है। हाल ही में सरकार ने टैरिफ में बढ़तरी की थी साथ ही अन्य टैक्स भी बढ़ा दिए थे। वहीं किसानों का कहना है कि टिड्डी दल के कारण उनकी फसल चौपट हो गई है और सरकार बिजली के बिल देकर परेशानी बढ़ा रही है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan