जोधपुर। पश्चिमी राजस्थान का कुंभ कहे जानेवाले विश्वविख्यात बाबा रामदेव समाधि स्थल को 76 दिन बाद भक्तों के दर्शन के लिए खोल दिया गया। गुरुवार को सुबह 5 बजे अभिषेक व आरती के साथ लोगों ने समाधि स्थल के दर्शन किये। इस दौरान परिसर बाबा के जयकारे से गूंज उठा।

बाबा रामदेव समाधि स्थल के व्यवस्थापक कमल छंगानी ने बताया कि वैक्सीन की कम से कम एक डोज लगी होने पर ही भक्तों को समाधि स्थल के दर्शन की अनुमति दी जा रही है । इसके अलावा मंदिर परिसर में कोविड प्रोटोकॉल का भी पालन करना होगा। समाधि स्थल के द्वार खुलने के बाद पहले दिन गुरुवार को राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र और दिल्ली सहित कई राज्यों से श्रद्धालु रामदेवरा पहुंचे और बाबा रामदेवजी की समाधि के दर्शन किए। इसके साथ ही मंदिर के आस-पास बाजार भी खुल गये और रौनक लौट आई है।

रामदेवरा समाधि स्थल के दर्शन के लिए कोरोना वैक्सीन लगाने वाले भक्तों को ही प्रवेश दिया जा रहा है। वहीं , सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए लाल रंग के गोले बनाए गए हैं । गौरतलब है कि इससे पूर्व सोमवार को समाधि समिति और जिला प्रशासन की ओर से बैठक आयोजित की गई थी , जिसके बाद समाधि स्थल खोलने का निर्णय हुआ था। लॉकडाउन की वजह से सरकारी आदेशों के तहत रामदेवरा स्थित बाबा रामदेव का समाधि स्थल, 76 दिनों तक बंद रहा। कोरोना के चलते पिछली बार भादवा में लगने वाला मेला भी नहीं हो पाया था हालांकि इस बार भादवा में अभी समय है।उधर, बाबा रामदेव समाधि स्थल के दर्शन का मौका मिलने को लेकर श्रद्धालुओं में खुशी का माहौल है।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags