डेढ़ लाख संविदा कर्मचारियों के लिए खुशखबरी है। राज्‍य सरकार इन्‍हें दीवाली से पहले नियमित करके बड़ा तोहफा देने की तैयारी में है। यदि सब कुछ ठीक रहा तो जल्‍द ही इस पर पक्‍की खबर सामने आ सकती है। कैबिनेट सब कमेटी ने संविदा कर्मियों को नियमित करने के फार्मूले पर मुहर भी लगा दी है। अब कमेटी अगले माह तक इस बारे में फाइनल रिपोर्ट तैयार कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सौंपेगी। इसके बाद रिपोर्ट को फिर कैबिनेट में रखा जाएगा। कैबिनेट की मंजूरी के बाद अधिकारिक आदेश जारी किए जाएंगे। राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार दीपावली से पहले प्रदेश के करीब डेढ़ लाख संविदा कर्मियों को नियमित करने की तैयारी कर रही है। प्रदेश के विभिन्न सरकारी विभागों में कार्यरत संविदा कर्मियों की लंबे समय से नियमित करने की मांग सहित अन्य समस्याओं को हल करने के लिए राज्य सरकार ने बुनियादी फार्मूला तैयार कर लिया है।

विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने अपने चुनावी घोषणा-पत्र में प्रदेश के विभिन्न विभागों में कार्यरत करीब डेढ़ लाख संविदा कर्मियों को नियमित करने का वादा किया था। उधर, संविदा पर कार्यरत कर्मचारियों ने पिछले दिनों नियमित करने की मांग को लेकर विरोध-प्रदर्शन भी किया था। कांग्रेस के विधायकों को इस संबंध में ज्ञापन सौंपकर किए गए वादे को भी याद दिलाया था।

यहां 300 से अधिक संविदा शिक्षकों को बड़ी राहत, संविदा अवधि बढ़ाई गई

कोरोना संकट काल में सरकार ने सरकारी डिग्री कॉलेजों में शिक्षण कार्य में जुटे 300 से अधिक संविदा शिक्षकों को बड़ी राहत दी है। चालू शैक्षिक सत्र 2020-21 यानी एक साल के लिए उनकी संविदा अवधि बढ़ाई गई है। उच्च शिक्षा प्रमुख सचिव आनंद बद्र्धन ने इस संबंध में सोमवार को आदेश जारी किया। इस आदेश से 300 से ज्यादा संविदा शिक्षकों को लाभ मिलेगा। डिग्री कॉलेजों में दो तरह से संविदा शिक्षक कार्य कर रहे हैं। इनमें से करीब 200 सरकारी डिग्री कॉलेजों में शिक्षकों के रिक्त पदों पर अस्थायी रूप से कार्य कर रहे हैं।

सांध्यकालीन कक्षाओं में अस्थायी रूप से कार्यरत सौ से अधिक शिक्षकों को भी सेवा विस्तार मिला है। श्रम मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने अपने कैंप आवास में आयोजित कार्यक्रम में अटल पोषण भत्ता योजना की शुरुआत की। योजना के तहत श्रम विभाग में पंजीकरण श्रमिक के बच्चों को माता-पिता दोनों की मृत्यु हो जाने पर 1500 रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी। इसके अलावा उन्होंने श्रम विभाग में पंजीकृत सभी श्रमिकों की बेटियों को साइकिल देने की बात कही।

चल रहा है संविदा शिक्षकों का वेरिफिकेशन

रानीपुर शिक्षा क्षेत्र अंतर्गत संविदा पर नियुक्त शिक्षामित्र व अनुदेशक के आधारकार्ड का वेरिफिकेशन चल रहा है। इसे लेकर गहमा-गहमी की स्थिति रही। ब्लाक क्षेत्र अंतर्गत कुल 245 संविदा शिक्षक हैं जिसमें 196 शिक्षामित्र तथा 49 अनुदेशक शामिल हैं। खंड शिक्षा अधिकारी अशोक कुमार गौतम ने बताया कि कोविड 19 का पालन करते हुए सरकार के निर्देशानुसार कार्य चल रहा है। इसमें आधारकार्ड के वेरीफिकेशन पर विशेष रुप से ध्यान दिया जा रहा है। इस दौरान बताया गया कि कुछ लोगों का आधारकार्ड से जुड़ा नहीं है उसे भी जोड़ा जा रहा है। इसकी वजह से देरी हो रही है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Makar Sankranti
Makar Sankranti