जयपुर। Honeytrap : हनीट्रैप में आकर अपने देश की रक्षा से जुड़ी अहम एवं खुफिया जानकारियां साझा करने का एक और मामला सामने आया है।

राजस्‍थान के जैसलमेर में तैनात सेना के दो जवानों पाकिस्तान की जासूसी के आरेाप में पकड़ा गया है। यह दोनों किसी पाकिस्तानी महिला के फोन काॅल के हनीट्रैप में आ गए और सोशल मीडिया के जरिए सेना की जानकारियां उस महिला को भेज रहे थे। मंगलवार को छुट्टी पर पोकरण से गांव जाते समय उन्हें खुफिया एजेंसियों ने जोधपुर रेलवे स्टेशन से हिरासत में ले लिया। अब इनसे विस्तृत पूछताछ की जा रही है।

जानकारी के अनुसार पिछले डेढ़ साल से हनीट्रैप में फंसे दोनों जवान सेना की जानकारियां आईएसआई को भेज रहे थे। ये जानकारियां फेसबुक और वाटस ऐप के जरिए भेजा जाना पाया गया है। पकड़े गए जवानों में से एक मध्यप्रदेश और दूसरा ओडिशा का रहने वाला है।

दोनों को पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने एक महिला के जरिए हनीट्रैप में फंसाया। महिला ने भारतीय नंबर से जवानों को फोन किया और भारतीय नंबर देखकर जवान झांसे में आ गए। जानकारी के अनुसार दोनों जवानों पर पोकरण में तैनाती के दौरान वहां सेना की तैनाती, उपकरण और युद्धाभ्यास आदि जानकारी भेजने के आरोप हैं। इसके एवज में उनके खातों में 5-5 हजार रुपए जमा होने की भी बात सामने आई है।

यह भी पढ़ें : Ayodhya case : रामजन्म भूमि मामले में भाजपा कार्यकर्ताओं को संयमित रहने के निर्देश

यह भी पढ़ें : होटल में बर्तन साफ करते हुए मिला करोड़पति का लापता बेटा, इंजीनियरिंग पढ़ने से बचने के लिए किया ऐसा

Posted By: Navodit Saktawat