जयपुर। आठ करोड़ रुपये के 35 हजार क्विटल गेंहू के घोटाले की आरोपी निलंबित आइएएस अधिकारी निर्मला मीणा परिवार सहित फरार हो गई हैं। मीणा और उनके पति ने अपने मोबाइल फोन बंद कर लिए हैं।

राज्य भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी ) मीणा की तलाश में जुटी है। मीणा की तलाशी के लिए उनके रिश्तेदारों और परिचितों के ठिकानों पर छापे मारे गए, लेकिन उनके बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं मिली।

उधर, एसीबी अधिकारियों की टीम ने सोमवार को जोधपुर जिला रसद अधिकारी कार्यालय में एक बार फिर छानबीन की। शनिवार और रविवार को एसीबी के अधिकारियों ने मीणा और उनके पति की तलाशी में कई स्थानों पर छापेमारी की।

यह था मामला-

उल्लेखनीय है कि जोधपुर में जिला रसद अधिकारी के पद पर रहते हुए निर्मला मीणा ने आटा मिल मालिकों और राशन डीलर्स के साथ मिलीभगत करके फर्जी लोगों के नाम से राशन कार्ड बनवा दिए और फिर उनके नाम पर आवंटित गेंहू आटा मिलों में भेज दिया। इसके बदले मीणा को मौटी रकम मिली । शिकायत मिलने के बाद एसीबी ने जांच शुरू की और सरकार ने उन्हे निलंबित कर दिया ।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket