जयपुर। राजस्थान सूचना आयोग ने अपने एक अन्य फैसले में व्यवस्था दी है कि राजस्थान लोक सेवा आयोग (द्वारा ऑनलाइन परीक्षा टेंडर से सम्बन्धित सूचना संवेदनशील सूचना है जो प्रतियोगी परीक्षा की गोपनीयता व निष्पक्षता को देखते हुए सार्वजनिक नहीं की जा सकती। अजमेर निवासी तरूण अग्रवाल ने आरपीएससी से ऑनलाइन परीक्षा टैण्डर से सम्बन्धित ईओआई व टेंडर से सम्बन्धित समस्त दस्तावेजों के साथ यह सूचना भी चाही थी कि इस टेंडर के आधार पर कौन-कौन सी परीक्षाएं आयोजित की गईं।

आरपीएससी ने यह सूचना देने से इनकार किया तो अग्रवाल ने राज्य सूचना आयोग को द्वितीय अपील दायर कर दी। अग्रवाल का कहना था कि सरकारी कार्यालय में टेंडर की सूचना देने से इनकार नहीं किया जा सकता। अपने जवाब में आरपीएससी ने सूचना आयोग के सामने तर्क दिया कि चाही गई सूचना देने से परीक्षाओं की गोपनीयता व विश्वसनीयता पर नकारात्मक असर पड़ेगा।

दोनों पक्षों की सुनवाई के बाद अपने फैसले में राज्य सूचना आयुक्त आशुतोष शर्मा ने कहा कि सरकारी कार्यालय में टेंडर प्रक्रिया की सूचनाएं सार्वजनिक की जा सकती हैं लेकिन आरपीएससी से ऑनलाइन परीक्षाओं के टेंडर के बारे में मांगी गई सूचना सामान्य सरकारी दफ्तर के टेंडर की सूचना नहीं है।

यह ऐसी संवेदनशील सूचना है जो परीक्षा की गोपनीयता व निष्पक्षता को प्रभावित कर सकती है। सूचना का अधिकार अधिनियम की प्रस्तावना एवं उद्देश्य ऐसी संवेदनशील सूचना की गोपनीयता को बनाए रखने की अपेक्षा करता है। इसलिए ऐसी सूचना नहीं दी जा सकती।

यह भी पढ़ें : Rajasthan : राजस्थान में गांवों के बनेंगे मास्टरप्लान - 2050 तक की जरूरतों के हिसाब से होगी योजना

यह भी पढ़ें : RTI : शिक्षा विभाग ने पूर्व मंत्री को नहीं माना नागरिक, सूचना देने से इनकार, कही यह बात

Posted By: Navodit Saktawat