जयपुर। कहा जाता है कि ऊपर वाले की लाठी में आवाज नहीं होती है और कई बार प्रकृति तत्काल न्याय करती है। ऐसा ही एक मामला राजस्थान में सामने आया है जहां अपने ही माता-पिता के हत्यारे को तत्काल सजा भी मिल गई और वो भी मौत की। मामला राजस्थान के नागौर का है जहां बुधवार को एक बेटे ने कुल्हाड़ी से अपने माता-पिता की हत्या कर दी। जब वो इस बर्बर काम को अंजाब देकर भाग रहा था तभी उसे भी उसकी करनी की सजा मिली और रास्ते में एक वाहन से उसकी बाइक की भिड़त में उसकी मौत हो गई।

यह घटना नागौर जिले के भदाणा गांव में सामने आई। पुलिस ने बताया कि डेह रोड पर एक मोटरसाइकिल सवार के दुर्घटना में गंभीर घायल होने की सूचना मिली थी। पुलिस जब तक मौके पर पहुंची तब तक मोटरसाइकिल सवार की मौत हो चुकी थी। जांच के दौरान गांव वालो ने पुलिस को बताया कि यह भदाणा का रहने वाला निवासी हनुमानराम है। जांच चल ही रही थी कि इस बीच सूचना मिली कि हनुमानराम ने कुल्हाड़ी से अपने पिता रुघाराम (82) और मां पतासीदेवी की हत्या कर दी है।

पुलिस ने मौके पर जाकर देखा तो दोनों के सिर और गले पर कुल्हाडी से वार कर उन्हें मारा गया था। आरोपी की पत्नी ने बताया कि हत्या के बाद जब हनुमानराम भाग रहा था तो उसने पीछे आवाज देकर रोकना चाहा, लेकिन वह नहीं रुका। बाद में उसकी भी मौत की खबर आ गई। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। बताया जा रहा है कि बेटा आर्थिक तंगी से परेशान था और इसके चलते ही उसने माता पिता की हत्या की। यह भी माना जा रहा है कि उसका एक्सीडेंट न हुआ हो, बल्कि उसने खुद ही जान दे दी हो। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

Posted By: Ajay Kumar Barve

fantasy cricket
fantasy cricket