जयपुर। राजस्थान की राजधानी जयपुर में भीख मांगने वालों का सर्वे किया जाएगा और इसके बाद इन्हें कौशल विकास के काम से जोड काम दिलाया जाएगा। जयपुर के जिला कलक्टर जोगाराम ने इस बारे में अधिकारियों को निर्देश दिए है। कलेक्टर ने बताया कि सर्वे के बाद भीख मांगने वालों को भिक्षावृत्ति से दूर करने के लिए विभिन्न एनजीओ एवं सामाजिक संस्थाओं के सहयोग से किसी संस्थान में रखकर उनकी देखभाल, स्किल डवलपमेंट जैसे प्रयास किए जाएंगे। वहीं अभी कोरोना संक्रमण को देखते हुए उनके लिए भोजन एवं पेयजल की व्यवस्था करने के लिए भी कहा गया है।

जयपुर राजस्थान की राजधानी होने के साथ ही एक बड़ा पर्यटन स्थल भी है, लेकिन भिखारियों की समस्या बहुत ज्यादा है और हर पर्यटन स्थल और ट्रेफिक चैराहों पर इन्हें देखा जा सकता है। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी इस पर चिंता व्यक्त कर चुके हैं और विधानसभा में भिक्षावृत्ति उन्मूलन के लिए एक विधेयक भी पारित हो चुका है।

कलक्टर ने बताया कि सर्वे में सत्यापन होने के बाद भिक्षावृति में संलग्न लोगों के पुनर्वास के लिए योजनाबद्ध तरीके से काम किया जाएगा। भिक्षावृत्ति में संलग्न लोगों को एक स्थान पर रखकर उन्हें कौशल से जोड़ा जाएगा। ये कौशल विकास केन्द्र अनुपयोगी पडे स्कूलों के भवनों और खाली पडे अन्य सरकारी भवनों में चलाए जाएंगे। जो लोग शारीरिक रूप से अक्षम या कमजोर होंगे उन्हें निर्धाारित सेवाकेन्द्रों में भेजा जाएगा। जिला कलक्टर ने जयपुर में पहले से एक शिविर में रखे गए करीब सवा सौ भिक्षावृति में संलग्न व्यक्तियों के पुनर्वास से पूर्व उनका कोरोना टेस्ट करने के भी निर्देश दिए है।

उन्होेंने जयपुर नगर निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया कि योजना तय होने तक अस्पतालों, विभिन्न पुलियाओं, बाजारों चैराहों, रेलवे स्टेशन, बस स्टेण्ड अथवा उनके मिलने की संभावना वाले स्थलों पर उनके लिए भोजन की व्यवस्था की जाए। साथ ही गर्मी को देखते हुए शीतल जल की चल प्याऊ एंव टेंकर की व्यवस्था भी की जाए।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना