जयपुर। जयपुर के बहुचर्चित दोहरे मर्डर केस में काफी चौंकाने वाला पर्दाफाश हुआ है। इस मामले में दो पतियों ने मिलकर अपनी-अपनी पत्नियों की हत्या की साजिश रची और इसमें दोनों ने एक दूसरे का सहयोग करने का वादा भी किया था। हत्याकांड करने और करवाने वाले आरोपितों के नाम रोहित तिवारी और सौरभ है। सौरभ रोहित की पत्नी व बेटे की हत्या करने में कामयाब रहा लेकिन रोहित शर्त के अनुसार सौरभ की पत्नी की हत्या करता, इससे पहले ही मामले का पर्दाफाश हो गया। जयपुर के पुलिस उपायुक्त राहुल जैन के मुताबिक इस दोहरे हत्याकांड में हरि सिह नामक एक शख्स को रविवार दोपहर गिरफ्तार किया गया है। आरोपी हरि सिह आरोपी सौरभ का जीजा है। इसके साथ ही पुलिस को रोहित तिवारी की दिवंगत पत्नी श्वेता के मोबाइल की सिम भी मिल गई है। श्वेता की हत्या करने के बाद उसका मोबाइल अपने साथ ले गए सौरभ ने इस सिम को अपने पास ही रख लिया था। पुलिस की पूछताछ में रोहित और सौरभ ने माना कि दोनों की ही अपनी पत्नियों से तनातनी चल रही थी और दोनों ही अपने परिवार से जुड़ी हर बात एक-दूसरे को बताते थे। दोनों ही अपनी पत्नियों की हत्या करने के बाद दूसरी शादी कर नया जीवन शुरू करने की सोच रहे थे। आरोपित रोहित दिल्ली का रहने वाला है जबकि मृतका श्वेता का मायका कानपुर में है।

सात जनवरी को जयपुर के जगतपुरा इलाके में स्थित यूनिक टॉवर में रोहित तिवारी की पत्नी श्वेता की हत्या करने के बाद उसके 21 माह के बेटे श्रेयम का अपहरण कर लिया गया था। तीन दिन तक 150 पुलिसकर्मियों ने गहन जांच कर इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझाई। जांच के बाद इस हत्याकांड का मुख्य साजिशकर्ता रोहित तिवारी ही निकला। रोहित से हुई पूछताछ के बाद उसके परिचित सौरभ को पकड़ा गया। सौरभ ने श्वेता और श्रेयम की हत्या की थी।

Posted By: Yogendra Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket