जयपुर (ब्यूरो)। जयपुर के ईदगाह इलाके में सोमवार रात को हरिद्वार जा रही बस पर पथराव के बाद तनाव की स्थिति बन गई। उपद्रवियों ने 10 वाहनों में आग लगा दी और करीब 30 लोग घायल हो गए। तनाव के चलते रात को ही 10 पुलिस थाना क्षेत्रों में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई। फिलहाल पूरे इलाके में भारी पुलिस बल तैनात है और तनावपूर्ण शांति बनी हुई है।

जयपुर का यह मुस्लिम बहुल इलाका है। यहां रविवार को दो पक्षों के बीच कांवड़ यात्रा को लेकर विवाद हुआ था, लेकिन बाद में शांति बहाल हो गई थी। सोमवार को सुबह त्योहारी खुशियों के बीच शांतिपूर्ण माहौल रहा लेकिन रात को करीब 10 बजे हरिद्वार जा रही एक बस पर पथराव के बाद तनाव बढ़ गया। दो पक्षों के बीच तनाव के बाद पथराव और फिर वाहनों में तोड़फोड़ हुई। इस उपद्रव में करीब 30 लोग जख्मी हुए। इनमें से 10 घायलों को सवाई मानसिंह अस्पताल में भर्ती कराया गया।

तनाव के दौरान एक समुदाय विशेष के लोग बड़ी संख्या में दिल्ली रोड पर जमा हो गए। वहां से गुजर रही बस को रुकवाया गया और पथराव किया गया। इस दौरान कई यात्री घायल हुए। घायल रणजीत के अनुसार वे परिवार समेत बस से हरिद्वार जा रहे थे लेकिन ईदगाह के पास भीड़ ने बस रुकवाई और पथराव शुरू कर दिया। इस घटनाक्रम के बाद मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मी भी उग्र भीड़ के शिकार बने। कॉन्स्टेबल राम प्रसाद भी बुरी तरह से चोटिल हो गया। स्थिति को सम्भालने के लिए भारी संख्या मे पुलिस बल और क्विक रेस्पांस टीम मौके पर भेजी गई। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़कर भीड़ को तितर बितर किया।

रात करीब दो बजे इलाके में पूर्ण शांति स्थापित हो पाईं। पुलिस अधिकारियों के अनुसार अभी इलाके में शांति है और स्थिति नियंत्रण में है। एहतियात के तौर पर दस थाना इलाकों में इंटरनेट बंद किया गया है।