जोधपुर, 30 जून। बच्चों के इलाज के मामले में जोधपुर का मेडिकल कॉलेज प्रदेश भर में अव्वल आया है। स्पेशल न्यू बोर्न केयर यूनिट की ओर से प्रदेश में कराई गई रैंकिंग में जोधपुर के मेडिकल कॉलेज ने बाजी मारी है। नवजात शिशुओं के इलाज की उपलब्ध सुविधाओं के मामले में जोधपुर मेडिकल कॉलेज को प्रदेश में सबसे अव्वल माना गया है। बीकानेर का मेडिकल कॉलेज दूसरे व अजमेर का जनाना अस्पताल तीसरे स्थान पर रहा।

कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए राज्य सरकार की तरफ से हाल ही प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों व अस्पतालों में बच्चों के इलाज के लिए उपलब्ध सुविधाओं का एक सर्वे करवा कर रैंकिंग तैयार की गई। सर्वे में 14 मापदंडों पर अस्पतालों को जांचा गया। इन 14 मापदंडों में सर्वाइवल रेट, संक्रमण, मृत्यु दर, तीन दिन से कम ठहरना, कंगारू मदर केयर, कम वजनी बच्चों का वजन बढ़ना, एंटीबायोटिक यूजेज, बेड एक्यूपेंसी , ट्रेकिंग आदि के रिकॉर्ड की जांच की गई।

इन कारणों से जोधपुर रहा अव्वल

जोधपुर के डॉ. एसएन मेडिकल कॉलेज के शिशु रोग विभाग में 7 सीनियर प्रोफेसर, 4 एसोसिएट व 10 असिस्टेंट प्रोफेसर कार्यरत हैं। साथ ही एमडीएम व उम्मेद अस्पताल में अलग से मातृ शिशु विंग बना हुआ है। एमडीएम अस्पताल में बच्चों के लिए 100 सामान्य व 20 आईसीयू बेड उपलब्ध हैं। इसके साथ ही 60 बेड का एनआईसीयू भी तैयार हो रहा है। वहीं उम्मेद अस्पताल में 300 - सामान्य , 35 पीआईसीयू व 70 बेड एनआईसीयू है। साथ ही 30 बेड का नया एनआईसीयू भी तैयार हो रहा है। उपलब्ध सुविधाओं के अलावा रैंकिंग के 14 मापदंडों में भी जोधपुर खरा उतरा। जोधपुर को 100 में से सबसे अधिक 75 अंक मिले।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags