जयपुर। राजस्थान पुलिस ने सीकर जिले में 200-200 के नकली नोट छापने वाले एक गिरोह को पकडा है और इनके पास से 25 हजार रूपए से ज्यादा के नकली नोट बरामद किए है। यह गिरोह सीकर शहर के बीचों बीच एक ट्रेवल शॉप की आड़ में नकली नोट छापता था। गिरोह के सदस्यों में एक कराटे का गोल्ड मैडलिस्ट और पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष भी है। सभी पढाई लिखाई में अव्वल रहने वाले बताए जा रहे है।

पुलिस के अनुसार सीकर जिले के फतेहपुर कस्बे में एक मुखबिर की सूचना पर सात लोागें विजेन्द्र, अभिषेक, रामावतार, अजय, अंकित, राकेश और रफीक को पकडा गया। इन सबके पास से 200-200 रूपए के नोट मिले जिनका सीरियल नम्बर एक ही था। नोट देखने में बिल्कुल असली लग रहे थे। इन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो कोई संतोषप्रद जवाब नहीं दे पाए। बाद में इन्हीं में से एक अंकित ने बताया कि यह नोट सीकर में कल्याण सर्किल पर मौजूद लक्ष्मी ट्रेवल शॉप दुकान पर छापे जाते है। पुलिस ने इस दुकान पर छापा मारा और वहां से प्रिंटर, सीपीयू, एलईडी, कीबोर्ड, कटे फटे नोट और 200-200 रूप्ए के जाली नोट बरामद किए। पुलिस ने दुकान के संचालक सुरेन्द्र व शुभकरण को भी गिरफतार किया।

पुलिस ने बताया कि गिरफतार किए गए लोगों की उम्र 19 से 30 वर्ष के बीच है और सभी पढाई में अव्वल है। इनमें से रामवतार सीकर के विज्ञान कॉलेज में 2017-18 में छात्रसंघ का अध्यक्ष रह चुका है और कराटे में राजस्थान की ओर से गोल्ड मैडल जीत कर लाया था। अभी एम.एससी कर रहा है। आरोपी अंकित ने बताया कि उन्होंने गूगल पर सर्च कर जाली नोट बनाना सीखा था और रोजमर्रा के कामों में इनका इस्तेमाल करते थे। बाद में लालच बढ गया और इन्होंने अधिक नोट छाप कर सीकर के आसपास के इलाकों में इन्हें खपाने की योजना बनाई थी, लेकिन इससे पहले ही पकडे गए।

Posted By: Yogendra Sharma

fantasy cricket
fantasy cricket