जयपुर। राजस्थान में दूसरे राज्यों के प्रवासियों को उनके गृह राज्य भेजने की गति काफी धीमी है। राजस्थान से 10.87 लाख लोगों ने अपने घरों को लौटने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है, लेकिन अब तक सिर्फ 1.95 लाख लोग ही भेजे जा सके है। जबकि दूसरे राज्यों से आने वालों की संख्या इसकी लगभग तीन गुनी है और करीब पौने सात लाख लोग राजस्थान आ चुके है। बता दें कि प्रवासियो को लाने आने और ले जाने की मांग उठाने वालों में राजस्थान अग्रणी राज्यों में से एक रहा है।

यहां मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लॉकडाउन के पहले चरण से ही प्रवासियों को लाने और ले जाने की मांग उठाई थी। राजस्थान ने ही इसके लिए ऑनलाइन पंजीकरण की सुविधा भी शुरू की। सरकारी आंकडों के अनुसार इस पर अब तक 23 लाख से ज्यादा लोग रजिस्ट्रेशन करवा चुके है। इनमें 10.82 लाख लोगों ने अपने गृहराज्य में जाने के लिए और 12.27 लाख लोगों ने राजस्थान लौटने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है।

सरकार की ओर से जारी आंकडों के अनुसार राजस्थान में आने वालों की संख्या तो करीब पौने सात लाख तक पहुंच गई है, लेकिन यहां से लोगों को भेजने का काम काफी सुस्त है और अब तक सिर्फ 1.95 लाख लोग अपने गृह राज्यों में भेजे जा सके है। आंकड़ों के मुताबिक गुजरात, महाराष्ट्र से सबसे ज्यादा लोग राजस्थान आए है, जबकि इन दोनों ही राज्यों में बहुत कम संख्या में लोगों को भेजा गया है। राजस्थान से अब तक सबसे ज्यादा प्रवासी उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और बिहार के लिए लौटे है।

श्रम मंत्री का ये है कहना

श्रम मंत्री टीकाराम जूली का कहना है कि राज्य सरकार की ओर से प्रवासी श्रमिकों एवं राजस्थानियों को सुरक्षित घर पहुंचाने के लिए कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। राजस्थान से श्रमिकों को भेजने का सिलसिला लगातार जारी है। बीते 24 घंटों में भरतपुर, जालौर और अन्य जिलो से कुल 4,540 श्रमिक भेजे गए है।

यह है श्रमिकों की राज्यवार स्थिति

राज्य लाए गए भेजे गए

गुजरात 2,81,432 9,860

महाराष्ट्र 2,04,074 1732

हरियाणा 14245 10518

प.बंगाल 1877 7009

मध्य प्रदेश 32,487 51,085

पंजाब 2614 9272

उत्तर प्रदेश 14,861 61,575

उत्तराखंड 2574 5356

बिहार 837 24,539

उड़ीसा 446 430

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना