जयपुर। अब अगर जयपुर से जुड़े राजमार्गों पर भारी वाहन खड़े मिले तो ट्रैफिक पुलिस एमवी एक्ट के साथ नेशनल हाईवे एक्ट के तहत भी केस दर्ज कराएगी। राष्ट्रीय राजमार्गों पर होने वाली दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए राजस्थान ट्रैफिक पुलिस ने यह फैसला किया है।

जयपुर ट्रैफिक पुलिस के डीसीपी राहुल प्रकाश का अनुसार, पिछले दिनों राजमार्गों पर खड़े वाहनों के कारण बड़ी दुर्घटनाएं हुई हैं। ऐसे में अब राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ बैठक की गई है। इसके तहत प्राधिकरण सड़क पर खड़े वाहनों के फोटो खींचकर पुलिस को भेजेगा और फिर हम मुकदमा दर्ज कराएंगे। गलत ढंग से वाहन खड़े करने वालों को पांच साल तक की सजा हो सकती है।

बता दें, नेशनल हाईवे एक्ट में 5 साल की सजा का प्रावधान है। पिछले दिनों ट्रैफिक पुलिस और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों के बीच हुई बैठक में यह फैसला लिया गया था। राजस्थान में नेशनल हाईवे से सटे हुए कई औद्योगिक क्षेत्र हैं, जहां राजमार्ग पर भारी वाहन खड़े रहते हैं। भारी वाहन सड़क पर खड़े होने से देर रात 3 से सुबह 6 बजे तक अधिकांश सड़क दुर्घटनाएं होती हैं।

प्राधिकरण ने पिछले दस दिन में नेशनल हाईवे पर अवैध रूप से खड़े 1200 वाहनों के ट्रैफिक पुलिस को फोटो भेजे हैं। इन फोटो में वाहनों के नंबरों के आधार पर वाहन मालिक व चालक को आरोपी बनाया जाएगा।