मनीष गोधा, जयपुर। राजस्थान में लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस को निकाय चुनाव में सफलता हासिल हुई है। प्रदेश के 49 नगरीय निकायों के लिए 16 नवम्बर हो हुए चुनाव में पार्टी ने 20 निकायों में स्पष्ट बहुमत हासिल किया है, वहीं प्रतिपक्षी भाजपा सिर्फ छह निकायों में स्पष्ट बहुमत हासिल कर पाई है। शेष 23 निकायों में से पांच निकायों में निर्दलीय दोनों दलोंं पर भारी पड़े हैं, वहीं 18 निकायों में भाजपा और कांग्रेस को निर्दलीय व अन्य दलों के जीते हुए पार्षदों का सहयोग लेना पड़ेगा। इस हिसाब से निर्दलीय और अन्य दलों के प्रत्याशियों के हाथ में इस बार लगभग आधे निकायों की सत्ता की चाबी है। इस चुनाव में 2105 वार्डो के लिए चुनाव हुआ था। इनमें से कांग्रेस को 961, भाजपा को 737, बसपा को 16, माकपा को 3, अन्य को दो और निर्दलियोंं को 386 सीटें मिली है। अब सबकी नजर 26 नवमबर को होने वाले निकाय अध्यक्ष चुनावों पर है। इसके लिए दोनों बड़ी पार्टियों ने अपने जीते हुए पार्षदों की घेराबंदी कर ली है और निर्दलीय व अन्य दलों के निर्वाचित पार्षदों को अपने पक्ष में करने की कोशिशें शुरू कर दी हैंं।

राजस्थान में निकाय और पंचायत चुनाव में आमतौर पर उसी दल को बढ़त मिलती रही है, जिसकी प्रदेश में सरकार होती है और यह परम्परा इस बार भी कायम रही है। राजस्थान के 195 में से 49 निकायों में यह चुनाव हुआ था। इनमें से छह नगरपालिकाएं नई थी। वर्ष 2014 में जिन 43 निकायों में चुनाव हुआ था, उनमें से 36 में से भाजपा का बोर्ड था, जबकि सात में कांग्रेस का बोर्ड था। ऐसे में पिछले चुनाव से तुलना की जाए तो इस बार परिणाम लगभग पूरी तरह पलट गया है और परम्परानुसार कांग्रेस को बढ़त मिली है।

तीन निगमों में भाजपा आगे- इस चुनाव में कांग्रेस को बढत तो मिली है, लेकिन सीटों के लिहाज से देखें तो भाजपा को काफी हद तक ठीकठाक प्रदर्शन कर गई है। दोनों दलों के 224 सीटों का ही अंतर है। इसके अलावा तीन नगर निगम उदयपुर, बीकानेर और भरतपुर तीनों जगह कांग्रेस हार गई। उदयपुर में तो लगातार छठी बार भाजपा स्पष्ट बहुमत के साथ बोर्ड बनाएगी, वहीं बीकानेर में यह बहुमत के आंकड़े से तीन सीट ही दूर है, वहीं भरतपुर में भी भाजपा के पास बढ़त है।

आधे निकायों में निर्दलियोंं के हाथ सत्ता की चाबी- इस चुनाव की सबसे बडी बात यह है कि 49 में से 23 निकायों में सत्ता की चाबी निर्दलीय और अन्य दलों के पार्षदों के पास है। इनमें से पांच निकाय तो ऐसे हैं जहां निर्दलीय और अन्य दल भाजपा व कांग्रेस पर भारी पड़े हैं। इनमें भरतपुर नगर निगम भी शामिल है, वही पिलानी में तो 35 से 30 सीटें निर्दलियों ने जीती है। निर्दलियोंं और अन्य दलों को इस चुनाव में 407 सीटें हासिल हुई हैंं, यानी कुल सीटों का करीब 20 प्रतिशत निर्दलियोंं और अन्य दलों के पास है।

नगर निकाय चुनाव के परिणाम

निकाय क्षेत्र कांग्रेस भाजपा निर्दलीय बीएसपी माकपा कुल वार्ड

ब्यावर नगर पालिका 16 29 15 0 0 60

पुष्कर नगर पालिका 9 14 2 0 0 25

नसीराबाद नगरपालिाका 8 10 2 0 0 20

अलवर नगर परिषद 19 27 19 0 0 65

भिवाड़ी नगर परिषद 23 23 12 2 0 65

थानागाजी नगरपालिका 10 9 6 0 0 25

बांसवाड़ा नगर परिषद 36 21 3 0 0 60

छबड़ा नगर पालिका 15 8 10 2 0 35

मांगरोल नगर पालिका 15 13 7 0 0 35

बाड़मेर नगर परिषद 33 18 4 0 0 55

बालोतरा नगर परिषद 16 25 4 0 0 45

भरतपुर नगर निगम 18 22 22 3 0 65

बीकानेर नगर निगम 30 38 11 1 0 80

चित्तौड़गढ़ नगर परिषद 36 24 0 0 0 60

निंबाहेड़ा नगर पालिका 28 16 1 0 0 45

रावतभाटा नगर पालिका 26 11 3 0 0 40

चूरू नगर परिषद 36 17 7 0 0 60

राजगढ़ नगर पालिका 15 11 7 7 0 40

गंगानगर नगर परिषद 19 24 22 0 0 65

सूरतगढ़ नगर पालिका 22 12 9 1 1 45

हनुमानगढ़ नगर परिषद 36 18 6 0 0 60

जैसलमेर नगर परिशद 21 20 4 0 0 45

भीनमाल नगर पालिका 14 18 8 0 0 40

जालौर नगर परिषद 14 18 8 0 0 40

बिसाऊ नगर पालिका 17 5 3 0 0 25

झुंझुनूं नगर परिषद 34 10 16 0 0 60

पिलानी नगर पालिका 2 3 30 0 0 35

फलौदी नगर पालिका 27 9 4 0 0 40

कैथून नगर पालिका 18 6 1 0 0 25

सांगोद नगर पालिका 16 7 2 0 0 25

डीडवाणा नगर पालिका 25 5 10 0 0 40

मकराना नगर परिषद 35 3 17 0 0 55

पाली नगर परिषद 22 29 14 0 0 65

सुमेरपुर नगर पालिका 9 18 8 0 0 35

नीमकाथाना नगर पालिका 19 12 4 0 0 35

सीकर नगर परिषद 36 18 10 0 1 65

माउंट आबू नगर पालिका 18 6 1 0 0 25

पिंडवाड़ा नगर पालिका 8 13 4 0 0 25

शिवगंज नगर पालिका 15 13 7 0 0 35

सिरोही नगर परिषद 22 9 4 0 0 35

आमेट नगर पालिका 17 8 0 0 0 25

नाथद्वारा नगर पालिका 29 10 1 0 0 40

टोंक नगर परिषद 27 23 10 0 0 60

कानौड नगर पालिका 7 7 6 0 0 20

उदयपुर नगर पालिका 20 44 5 0 1 70

प्रतापपुर गांधीनगर पालिका 10 11 4 0 0 25

रूपवास नगर पालिका 6 6 13 0 0 25

महुआ नगर पालिका 8 4 13 0 0 25

खाटूश्याम जी नगर पालिका 3 11 6 0 0 20

भाजपा की स्पष्ट बहुमत वाले निकाय

खाटू श्यामजी, पुष्कर, बालोतरा, पिण्डवाडा, उदयपुर और सुमेरपुर

जहां भाजपा को बढ़त हासिल

पाली, बीकानेर अलवर, ब्यावर, नसीराबाद, पाली, जालौर, भीनमाल, प्रतापुर गढी

कांग्रेस के स्पष्ट बहुमत वाले निकाय

संगोद, कैथून, नाथद्वारा, निम्बाहेडा, चित्तौडगढ, रावतभाटा, बांसवाडा, माउंट आाबू, सिरोही, बाडमेर, फलौदी, मकराना, डीडवाना, नीमकाथाना, सीकर, बिसाउ, झुझुनूं, चूरू हनुमानगढ

यहां कांग्रेस भाजपा से आगे

सूरतगढ, राजगढ, भिवाडी, टोंक, जैसलमेर, मंगरोल, छबडा, शिवगंज,थानागाजी

जहां निर्दलियो ने बाजी मारी

भरतपुर, पिलानी, रूपपवास, महुआ, कनोड

Posted By: Navodit Saktawat